आधी मजदूरी रिश्वत में लेने वाली सरपंच को जेल भेजा

राजस्थान के कोटा जिले में ग्राम पंचायत की ओर से चेक का भुगतान होने से पहले सरपंच ने मजदूरी की आधी राशि रिश्वत में मांगी और पहली किश्त में एक हजार रुपए देने देना तय हुआ।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 05 Sep 2020, 09:19 PM IST

कोटा. कोटा ग्रामीण एसीबी की ओर से एक हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में ग्राम पंचायत कोटड़ादीपसिंह की सरपंच संतोष बैरवा (48) व उसके पुत्र तिरूपति बैरवा (22) को शनिवार को मेडिकल परीक्षण के बाद एसीबी न्यायालय में पेश किया गया। जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। कोटा ग्रामीण एसीबी के निरीक्षक वासुदेव सिंह ने बताया कि 2 सितम्बर को कोटा ग्रामीण के बूढ़ादीत थाने के गांव कोटड़ादीपसिंह निवासी हरिओम गुर्जर (25) ने एसीबी में दिए परिवाद में बताया कि उसने कोटड़ादीपसिंह में हैंडपम्प रिपेयर का काम किया था। इसकी एवज में उसे 3100 रुपए दिए जाने थे। ग्राम पंचायत की ओर से चेक का भुगतान होने से पहले सरपंच संतोष बैरवा ने मजदूरी की आधी राशि राशि रिश्वत में मांगी और पहली किश्त में एक हजार रुपए देने देना तय हुआ। एसीबी ने इस शिकायत का सत्यापन करवाया। इसके बाद शुक्रवार को सरपंच संतोष व उसके पुत्र तिरूपति बैरवा ने खुद के घर पर मरम्मत की रकम में से आधी राशि की मांग की। परिवादी ने एक हजार रुपए दे दिए और बाकि राशि बाद में देने को कहा। परिवादी का इशारा पाते ही एसीबी ने महिला सरपंच से रिश्वत की राशि बरामद कर मां-बेटे दोनों को गिरफ्तार किया। शनिवार को मां-बेटे को एमबीएस चिकित्सालय में मेडिकल के बाद न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned