चार माह से था विराम, अब बजेगी शहनाई

- शादी ब्याह की तैयारियां जोर शोर से

By: Anil Sharma

Published: 22 Nov 2020, 05:27 PM IST

सांगोद. पिछले चार माह से विराम पड़े मांगलिक कार्यों की शुरुआत एवं शहनाइयों की गूंज २५ नवंबर को देवउठनी एकादशी से शुरू होगी। देवउठनी के अबूझ सावे समेत आगामी दिनों में प्रस्तावित सावों के चलते बाजारों में शादी ब्याह की चहल-पहल बढऩे लगी है।
दुकानों पर शादी-ब्याह से संबधित खरीदारी जोरों पर है तो बीते आठ माह से बंद डीजे एवं बैंडबाजे की आवाजें भी सुनाई देने लगी है। जिन घरों में अबूझ सावे पर शादी ब्याह के आयोजन है वहां बीते दो दिनों से माता पूजन की रस्म हो रही है। कई घरों में शुक्रवार तो कई घरों में शनिवार को वर-वधू की माता पूजन की रस्म अदा की गई। ऐसे में दिनभर बाजारों में बैंडबाजे व डीजे की आवाजें सुनाई देती रही। शीतला माता मंदिर पर भी दिनभर भीड़ रही। कोरोना काल के बावजूद लोगों में घरों में शुरू हुए मांगलिक कार्यों की खुशी और उत्साह नजर आया। बीते आठ माह से बंद डीजे व बैंडबाजे शुरू होने से दुकानदारों के चेहरे पर भी थोड़ी राहत दिखी।

बाजारों में खरीदारी का जोर
सावों पर शादी ब्याह शुरू होने के चलते सर्राफा से लेकर कपड़े व अन्य दुकानों पर खरीदारी बढऩे लगी है। घरों में भी शादी ब्याह की तैयारियां शुरू हो गई है। दूल्हा दुल्हन के साथ अन्य परिजन भी शादी ब्याह की खरीदारी व अन्य तैयारियों में जुटे है। ऐसे में बाजारों में दीपावली के बाद एक बार फिर अबूझ सावों की खरीदारी की रौनक नजर आ रही है।

फिर बढ़ गई चिंता
अबूझ सावों को लेकर शादी ब्याह की तैयारियां एवं रौनक तो शुरू हो गई, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कोटा जिले में फिर धारा-१४४ लागू होने के बाद आयोजकों की भी चिंता बढ़ गई है। मार्च माह के बाद से शादी-ब्याह के आयोजन कम होने से देवउठनी पर बंपर शादियां होने का अनुमान है, लेकिन नई गाइडलाइन से फिर आयोजकों के चेहरों पर चिंता है।

Anil Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned