हर घर के आंगन में होगी तुलसी...

एक परिवार को मिलेंगे कुल २४ पौधे

By: Anil Sharma

Published: 24 Sep 2021, 12:02 AM IST

सुल्तानपुर. राजस्थान सरकार ने आमजन के स्वास्थ्य को सुरक्षित करने के लिए जून माह में घर-घर औषधि योजना का प्रारम्भ किया था। जिसके अंतर्गत औषधीय पौधों को आम जनता में नि:शुल्क वितरित किया जा रहा है। ताकि जब भी आमजन को इनकी आवश्यकता पड़े तो उन्हें ये आसानी से उपलब्ध हो सके। यह योजना आमजन में जैवविविधता के संरक्षण के लिए प्रेरणा का कार्य भी कर रही है। जिसमें सुल्तानपुर वन विभाग की ओर से प्रथम चरण में योजना के तहत अब तक क्षेत्र की कुल १५ ग्राम पंचायतों में ९६ हजार औषधीय पौधे वितरित किए जा चुके है। जहां घर-घर अब औषधीय पौधों से महक रहे है तो वहीं लोगों की भी औषधीय पौधों के प्रति जागरूकता भी बढ़ी है। औषधी के उपयोग से रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि हुई है।
अब तक इतने पौधे किए वितरित
क्षेत्रीय वन अधिकारी गौरव मीणा ने बताया कि औषधीय पौधों को लेकर लोगों को काफी उत्साह है। क्षेत्र में २० अगस्त से इस योजना अन्तर्गत औषधीय पौधों का वितरण शुरू किया गया था। इसमें पूरे वन क्षेत्र में कुल ३१ ग्राम पंचायतों में घर-घर में २ लाख ३० हजार पौधे वितरित किए जाने है। जहां योजना के प्रथम चरण (२० अगस्त से ३० सितंबर) में अब तक १५ ग्राम पंचायतों में कुल ९६ औषधीय पौधों का वितरण किया गया है। इसमें ग्राम पंचायत समेत विभिन्न सामाजिक संगठनों ने भी सहयोग किया। उन्होंने बताया कि अब १ अक्टूबर से योजना का दूसरा चरण शुरू होगा। जिसके तहत शेष १६ ग्राम पंचायतो के गांवो मे घर घरऔषधीय पौधे वितरित किए जाएंगे।
क्या है योजना
घर-घर औषधि योजना के अंतर्गत वन-विभाग की ओर से औषधीय पौधों की पौधशालाएं विकसित कर तुलसी, गिलोय,अश्वगंधा और कालमेघ के पौधे उगा कर आमजन को दिए जाएंगे। आमजन को औषधीय पौधे आसानी से उपलब्ध कराना व उनको घरों में उगाने में मदद और पौधों की उपयोगिता के बारे में प्रचार-प्रसार कर जन चेतना को बढ़ा कर राजस्थान के निवासियों के स्वास्थ्य में सुधार करना इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। इस पंच वर्षीय योजना का कुल बजट 210 करोड़ रुपए है जिसमें से 31.4 करोड़ रुपए पहले वर्ष में खर्च किए जाएंगे। इस योजना के तहत हर परिवार को चार औषधीय प्रजाति के पौधे तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेघ के दो-दो पौधे (१ बार में कुल 8 पौधे) मिलेंगे और पांच साल में तीन बार तो, इस प्रकार हर परिवार को कुल 24 पौधे दिए जाएंगे।
इनका यह है कहना
& सुल्तानपुर क्षेत्र में घर-घर औषधि योजना के तहत पौधों का वितरण कार्य जारी है। अब १५ ग्राम पंचायतों में यह वितरण किया जा रहा है जो कि अन्तिम दौर में है। दूसरे चरण में शेष १६ ग्राम पंचायतों के गांवों में भी पौधे वितरित किए जाएंगे। पौधों के वितरण के साथ ही इनकी विशेषता व उपयोगिता भी बताई जा रही है।
- गौरव मीणा, रेंजर वन विभाग

Anil Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned