सामान्य बीमारियों के इलाज के लिए फिर बंद हो गया ये अस्पताल

मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक व नए अस्पताल दोनों को कोविड-19 के संभावित संक्रमित मरीजों व आइसोलेशन के लिए रिजर्व किया है। जबकि जनवरी में ही कोविड संक्रमण की गति कम होने पर इन अस्पतालों को सामान्य मरीजों के लिए खोला गया था।

By: Abhishek Gupta

Published: 07 Apr 2021, 11:44 AM IST

कोटा. कोटा में कोरोना की डरावनी रफ्तार देखने को मिली है। इससे रोजाना बड़ी तादात में कोरोना संक्रमित मिल रहे है। मंगलवार को भी कोरोना का अनचाहा शतक लगा है। कुल 161 नए संक्रमित मिले है। जबकि सरकारी रिपोर्ट में दो कोरोना मरीजों की पुष्टी हुई है। लगातार मरीज बढऩे से कोविड डेडिकेट अस्पताल फु ल हो गया है। हालातों से निपटने के लिए मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक व नए अस्पताल दोनों को कोविड-19 के संभावित संक्रमित मरीजों व आइसोलेशन के लिए रिजर्व किया है। जबकि जनवरी में ही कोविड संक्रमण की गति कम होने पर इन अस्पतालों को सामान्य मरीजों के लिए खोला गया था। 20 मार्च के बाद संक्रमण की रफ्तार बढऩे पर मरीजों की संख्या बढऩे से वापस इसे कोविड डेडिकेट किया गया। मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि नए अस्पताल व सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में संचालित सभी विभागों के आउटडोर, इनडोर व ओपीडी सेवाओं को अस्थाई तौर पर अग्रिम आदेश तक एमबीएस अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। नए अस्पताल में कोविड ओपीडी व डे केयर पहले की तरह नए अस्पताल के जिरियाट्रिक सेंटर में संचालित किया जाएगा।

एमबीएस अस्पताल में होगा सामान्य बीमारियों का इलाज
एमबीएस अस्पताल में वापस सामान्य बीमारियों का इलाज हो सकेगी। यहां पर ही ऑपेशन व जांचों की सुविधा रहेगी। इससे इस अस्पताल में वापस मरीजों का लोड़ बढ़ जाएगी। जबकि पहले ही यहां मरीजों की संख्या अधिक होने के कारण हालात खराब रहते है। ऐसे में मरीजों को इलाज में समय लगेगा।

ये डरावनी रफ्तार
6 अप्रेल 1615 अप्रेल 2804 अप्रेल 2253 अप्रेल 1992 अप्रेल 1951 अप्रेल 139

एक्टिव केस 1300 पार
जिले में एक्टिव केस की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। जिले में 26 मार्च को 511 एक्टिव केस थे, जो 11 दिन में बढ़कर 11 दिन में 823 बढ़कर 1334 पर पहुंच गए है। एक्टिव केस के मामले में कोटा प्रदेश में तीसरे स्थान पर बना हुआ है।

यहां 25 प्रतिशत बेड रिजर्व
सीएमएचओ डॉ. बीएस तंवर ने बताया कि राज्य सरकार के आदेश के बाद निजी अस्पतालों में भी कोविड मरीजों के लिए 25 प्रतिशत बेड रिजर्व करने के आदेश जारी कर दिए है। वहीं, कोटा से 2 हजार 300 सेम्पल लिए गए है।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned