हरियाली से छेड़छाड़ की तो कर्मचारियों के आशियानों पर चली आरी पढ़िए पूरा माजरा ..

हरियाली से छेड़छाड़ की तो कर्मचारियों के आशियानों पर चली आरी पढ़िए पूरा माजरा ..

Suraksha Rajora | Publish: Mar, 17 2019 03:52:53 PM (IST) | Updated: Mar, 17 2019 03:52:54 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

माला रोड स्तिथ चम्बल कॉलोनी में 'दिनदहाड़े चढ़ रही हरियाली की बलि..काटे जा रहे है पेड़ ..

कोटा. माला रोड स्थित चम्बल कॉलोनी में वर्षों पुराने दर्जनों पेड़ काटने के मामले में चम्बल परियोजना खण्ड कोटा के अधिकारियों ने कर्मचारियों को मकान आवंटन निरस्त करने व तीन दिन में मकान खाली करने के आदेश शनिवार को जारी कर दिए। राजस्थान पत्रिका में शनिवार के अंक में 'दिनदहाड़े चढ़ रही हरियाली की बलि शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था।

 

Read More : महिलाओं के इस हंगामे से जगा अस्पताल का सोया हुआ प्रशासन....

 

समाचार प्रकाशित होने के बाद सिंचाई विभाग के कर्मचारी व अधिकारी हरकत में आए। कार्रवाई के लिए भी खोला कार्यालय चम्बल परियोजना के अधिशासी अभियंता देवेन्द्र अग्निहोत्री ने बताया कि समाचार प्रकाशित होने के बाद शनिवार को कार्यालय बंद होने के बावजूद खोला गया और जेईएन व एईएन को मौके पर भेजकर कॉलोनी के सभी मकानों का निरीक्षण करवाया। इस दौरान दोनों अधिकारियों से एक महिला ने अभद्रता भी की। कॉलोनी में 6 मकानों में पेड़ काटने पाए गए।

 

Read More : अतिक्रमण के आगे बेबस न्यास ! कार्यवाही के नाम पर यह दे डाली सलाह....

 

अग्निहोत्री ने बताया कि चम्बल कॉलोनी में पीडब्ल्यूडी व सिंचाई विभाग दोनों के मकान हैं। हमने हमारे विभाग के मकानों की जांच करवाई, जिसमें 6 मकानों में पेड़ काटने पाए गए। इनमें 4 पुलिसकर्मी, 1 कोटा का कर्मचारी व 1 माइनिंग विभाग का कर्मचारी है, जिन्होंने पेड़ काटे हैं। इन सभी कर्मचारियों के मकान आवंटन के आदेश निरस्त कर दिए हैं। इन्हें तीन दिन में मकान खाली करने के लिए आदेश जारी कर दिए। उन्होंने कहा की साथ ही इन सभी कर्मचारियों के अधिकारियों को पत्र लिखा जा रहा है, जिसमें वर्षों पुराने पेड़ कटवाकर बेचने के मामले में कानूनी कार्रवाई करने के लिए लिखा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned