चम्बल नदी दुखान्तिका : मंत्रियों के सामने फफक पड़े पीड़ित परिवार

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल और जिले के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया शुक्रवार दोपहर को नाव दुखान्तिका के पीड़ितों से मिलने पहुंचे। उन्होंने परिजनों को सहायता राशि के चेक सौंपे।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 18 Sep 2020, 04:07 PM IST

कोटा. कोटा जिले की सीमा के अंतिम छोर पर स्थित खातौली क्षेत्र के गोठड़ा कलां गांव के पास हुई चम्बल नदी दुखान्तिका के पीड़ितों को ढांढ़स बंधाने के लिए नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल और प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया गांवों में पहुंचे। यहां उन्होंने पूरे घटनाक्रम की जानकारी। इस दौरान मृतकों के परिजन फफक पड़े। शांति धारीवाल और लालचंद कटारिया ने कहा, सरकार आपके साथ है। उन्होंने पीडि़तों के परिजनों को सहायता राशि के चेक भी सौंपे। इसके अलावा हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया। मंत्रियों ने अधिकारियों को भविष्य ऐसे हादसे नहीं हो, इसके लिए ठोस कदम उठाने के निर्देश दिए। मंत्री बूंदी जिले के इंद्रगढ़ के पास से सीधे तलाव गांव और अन्य पीडि़त परिवारों से मिलने पहुंचे। उनके वहां पहुंचने से पहले जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। गत 16 सितम्बर को चम्बल में नाव डूबने से 13 जनों की मौत हो गई थी।

इस दौरान जिला कलक्टर उज्जवल राठौड़ सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। स्थानीय लोगों ने सहायता राशि बढ़ाने की भी मांग रखी। अधिकारियों ने मंत्रियों को बताया कि जान जोखिम डालने के आरोप में पांच जनों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। इसके अलावा जहां अवैध रूप से नावों का संचालन हो रहा है वहां नावों को जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned