कृषि विवि लघु अवधि का रोजगारोन्मुखी सर्टिफि केट पाठयक्रम शुरू करेगा

कृषि विश्वविद्यालय कोटा के प्रसार शिक्षा निदेशालय की प्रसार शिक्षा परिषद की चतुर्थ बैठक शनिवार को कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एवं गुणवत्ता सुधार केन्द्र के सभागार में आयोजित हुई।

 

By: Abhishek Gupta

Updated: 28 Feb 2021, 01:15 PM IST

कोटा. कृषि विश्वविद्यालय कोटा के प्रसार शिक्षा निदेशालय की प्रसार शिक्षा परिषद की चतुर्थ बैठक शनिवार को कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एवं गुणवत्ता सुधार केन्द्र के सभागार में आयोजित हुई। बैठक में कुलपति प्रो. डी.सी. जोशी ने कृषि में नवाचारों को वैज्ञानिक तरीके से अपनाने पर जोर देते हुए व्यावसायिक स्तर पर कार्य करने की आवश्यकता जताई। साथ ही उन्होंने सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों से जिला स्तरीय स्टेट्स रिपोर्ट तैयार करने को कहा, ताकि जिले के किसानों के लिए कृषि संबंधी रूपरेखा व रणनीति तैयार की जा सके। जैविक खेती आधारित समन्वित कृषि प्रणाली की जीवन्त इकाई स्थापित करने की जरूरत बताई। विशिष्ठ अतिथि प्रख्यात प्रसार शिक्षाविद् आनन्द कृषि विवि गुजरात के प्रसार शिक्षा डॉ. अरूण ए. पटेल ने अन्य विभागों के साथ मिलकर कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने की अनुशंसा की।
स्वामी केशवानन्द राजस्थान कृषि विवि बीकानेर के निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. एस.के. शर्मा ने किसानों के लिए कार्य करने की आवश्यकता पर जोर दिया। प्रसार शिक्षा परिषद के सदस्य सचिव डॉ. एस.के. जैन ने प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। बैठक में कुलपति व अन्य अतिथियों ने विवि के कृषि पंचाग 2021 व त्रैमासिक पत्रिका अभिनव कृषि के नवीन अंक का विमोचन किया। उसके बाद राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अन्तर्गत कार्यरत परियोजना कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एवं गुणवता सुधार केन्द्र किसान कॉल सेन्टर, हेल्पलाइन का उद्घाटन किया। बैठक में लघु अवधि के रोजगारोन्मुखी सर्टिफि केट पाठयक्रम पशुपालन एवं मूल्य संर्वधन व प्रसंस्करण पर संचालित करने का निर्णय लिया गया।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned