कोरोना संकट में घर की मिलेगी सौगात

- अनुमोदित कॉलोनियों में बनेंगे पट्टे

By: Ranjeet singh solanki

Published: 06 Jun 2020, 10:42 PM IST

कोटा। यहां कृषि भूमि पर बसी आवासीय कॉलोनियों के ले-आउट प्लान के अनुमोदन के बाद भी अपने मकानों के पट्टों को तरसते लोगों को जल्द राहत मिलेगी। राज्य सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद यहां नगर पालिका ने आवासीय अनुमोदित कॉलोनियों में रह रहे लोगों को पट्टे जारी करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके लिए कॉलोनी वाइज 11 जून से आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी। उल्लेखनीय है कि सांगोद नगर में बीते सालों में कृषि भूमि पर कई कॉलोनियां बस गई। यहां लोगों ने भूखंड लेकर मकान तो बना लिए लेकिन कॉलोनियों का नगर पालिका में ले-आउट प्लान का अनुमोदन नहीं होने से लोगों के पट्टे नहीं बन पा रहे थे। ऐसे में पट्टे के अभाव में लोगों को सरकारी योजनाओं से भी वंचित होना पड़ रहा था। गत साल नगर पालिका ने 17 जून 1999 से पूर्व की कृषि भूमी पर बसी कॉलोनियों के ले-आउट प्लान अनुमोदित भी किए लेकिन राज्य सरकार से पट्टे बनाने की स्वीकृति नहीं मिलने से कॉलोनियों में रह रहे लोगों के पट्टे नहीं बन पा रहे थे। कई बार लोगों ने पट्टे बनाने की मांग भी जनप्रतिनिधियों के समक्ष रखी लेकिन पट्टों पर अघोषित रोक होने से जनप्रतिनिधि भी लाचार रहे। सांगोद पालिका अध्यक्ष कविता गहलोत ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा हाल ही में अनुमोदित आवासीय योजनाओं में पट्टें की कार्रवाई के निर्देश जारी किए है। इसकी पालना में नगर पालिका ने भी इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। यहां 17 जून 1999 से पूर्व की बसी कॉलोनियां जिनके ले-आउट प्लान अनुमोदित हो चुके है उनमें निवास कर रहे लोग पट्टे के लिए आवेदन कर सकते है। अधिशासी अधिकारी सुरेश कुमार रेगर ने बताया कि पालिका क्षेत्र में एपीजे अब्दुल कलाम कॉलोनी प्रथम एवं द्वितीय, शहीद अब्दुल हमीद कॉलोनी, शहीद अशफाक उल्ला खां कॉलोनी, महात्मा ज्योतिबा फूले नगर, शहीद भगत सिंह कॉलोनी, बजरंग विहार कॉलोनी व अन्य अनुमोदित कॉलोनियों के लोग पट्टों के लिए 11 जून से 31 जुलाई तक पट्टा आवेदन कर सकते है।

Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned