इस गांव के गांव वाले इतने खतरनाक है कि पुलिस के साथ जाने पर भी कर देते हैं लाठियों व पत्थरों से हमला

एक गांव में शुक्रवार दोपहर पुलिस को साथ लेकर कार्रवाई करने पहुंची विद्युत वितरण निगम की टीम पर ग्रामीणों का हमला।

By: abhishek jain

Published: 10 Nov 2017, 08:22 PM IST

कवाई (बारां).

थाना क्षेत्र के दीलोद गांव में शुक्रवार दोपहर अवैध कनेक्शनों के मामले में पुलिस को साथ लेकर कार्रवाई करने पहुंची विद्युत वितरण निगम की टीम पर ग्रामीणों ने लाठियों, पत्थरों से हमला कर दिया। इसमें टीम में शामिल पांच कर्मचारी घायल हो गए। इनमें से एक कर्मचारी जोगेन्द्र जाटव को बारां रैफर किया गया। शेष का कवाई में उपचार किया गया।

Read More: लड़की ने मोबाइल मांगा फिर घर ले जाकर बिस्तर पर बिठाया, इसके बाद लड़के के साथ किया ये गंदा काम

ग्रामीणों के हमले के बाद टीम के लोगों ने भागकर जान बचाई। घटना के बाद पुलिस अधिकारी और जाप्ता लेकर गांव पहुंचे। हमलावर लोग मौके से भाग निकले। शाम तक कार्यवाही जारी थी।

Read More: प्रॉपर्टी डीलर ने अपने ही कर्मचारी की पत्नी को बनाया हवस का शिकार, बहाने से पति को बाहर भेज किया रेप
जानकारी के अनुसार दीलोद गांव में अवैध रूप से लगे ट्रांसफार्मरों के खिलाफ कार्रवाई करने टीम पहुंची थी। इसमें एक्सईएन बीडी गोयल, छीपाबड़ौद एईएन संदीप जैन, छबड़ा एईएन श्रीलाल जाटव, अटरू एईएन जांगिड़ के अलावा हरनावदाशाहजी, छबड़ा, छीपबड़ौद, अटरू शहर व ग्रामीण के जेईएन समेत आरएसी का जाप्ता शामिल था।

Read More: Video: पद्मावती फिल्म का मामला गर्माया, भंसाली पर हुई देश द्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग

 

आठ अलग-अलग जगह अवैध रूप से लगे ट्रांसफार्मरों को नष्ट करने के दौरान ग्रामीणों ने टीम पर हमला बोल दिया। इस दौरान टीम के सदस्य आठों जगह थे। ग्रामीणों द्वारा लाठियों व पत्थरों से हमला बोला गया। ताबड़तोड़ हमले के बाद टीम के लोग वहां से भागे।

Read More: जिनको दिया भगवान का दर्जा उन्ही की लापरवाही ले रही मासूमों की जान, फिर 1 की मौत
इधर, घटना की जानकारी मिलने के बाद अटरू से पुलिस उपाधीक्षक रणविजय सिंह अटरू व कवाई के थाना प्रभारियों व जाप्ते को लेकर दीलोद पहुंच गए। मौके से हमलावर भाग निकले। इस मामले में शाम तक पुलिस कार्यवाही जारी थी।

abhishek jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned