जो काम पुलिस को करना था वो ग्रामीणों ने कर दिया, देखते ही भाग खड़े हुए...

Rajesh Tripathi

Updated: 14 Jun 2019, 09:48:16 PM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

मोईकलां. बजरी खनन के मामले में पुलिस पर लग रहे आरोपों के बीच बेलावन गांव के पास परवन नदी में बजरी खनन को रोकने के लिए ग्रामीण आगे आने लगे हैं। शुक्रवार शाम को बजरी भरने आए पांच टै्रक्टर-ट्रॉली को लोगों के विरोध के चलते खाली लौटना पड़ा।
ग्रामीणों ने बताया कि पिछले एक सप्ताह से लगातार पुलिस को अवैध बजरी खनन की शिकायत की जा रही थी। इसके बाद भी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कोई कार्रवाई नहीं की। शुक्रवार शाम को नदी में बजरी भरने आए पांच टै्रक्टर-ट्रॉली को लोगों ने विरोध कर खाली भेज दिया। लोगों का आरोप है कि फोन करने के बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंचती है, इसलिए शुक्रवार को बिना सूचना दिए ग्रामीण पहुंचे और खननकर्ताओं केा भगा दिया।

गर्मी लगी तो पंखे की तरफ बढ़ाया हाथ,
करंट लगने से
मासूम की मौत


परवन नदी में बजरी खनन की शिकायत सामने आने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची थी। जिस जगह पर बजरी खनन हो रहा है वह उनके थाना क्षेत्र में नहीं है। फिर भी अगर कहीं ऐसा सामने आता है तो शनिवार को मैं स्वयं मौके पर पहुंच कर देखता हूं। बजरी खनन में पुलिस की कोई भूमिका नहीं है।
रामभरोसी मीणा, थाना प्रभारी सदर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned