Water crisis: पानी की मारामारी: कोटा में सड़कों पर उतरी महिलाएं, बूंदी में एक्सईएन ऑफिस में तोडफ़ोड़

Water crisis: पानी की मारामारी: कोटा में सड़कों पर उतरी महिलाएं, बूंदी में एक्सईएन ऑफिस में तोडफ़ोड़
पानी की मारामारी: कोटा में सड़कों पर उतरी महिलाएं, बूंदी में एक्सईएन ऑफिस में तोडफ़ोड़

Zuber Khan | Updated: 21 Aug 2019, 02:27:40 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

Water crisis: कोटा में पेयजल किल्लत का सामना कर रहे पुरूष व महिलाओं का गुस्सा आखिर बुधवार को फूट पड़ा।

कोटा. शहर में लम्बे समय से अनियमित जलापूर्ति के चलते पेयजल किल्लत का सामना कर रहे पुरूष व महिलाओं का गुस्सा आखिर बुधवार को फूट पड़ा। शहर के नदी पार इलाके की महिलाओं ने अकेलगढ़ पहुंचकर प्रदर्शन किया और जलदाय अधिकारियों का घेराव कर रोष जताया। उन्होंने जलदाय विभाग के खिलाफ धरना भी दिया।

Read More: खून से सनी कोटा की सड़कें, हर 3 दिन में बुझ रहा 1 परिवार का चिराग, 7 माह में 66 लोग हो चुके मौत का शिकार

महिलाओं ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि शाम तक नलों में पानी नहीं आया तो गुरुवार को उग्र आंदोलन किया जाएगा। महिलाओं ने चंबल कॉलोनी, सकतपुरा, बजरंगपुरा सहित कई इलाकों में पानी नहीं आने की शिकायत की। अधिकारियों की काफी समझाइश व सुचारु जलापूर्ति के आश्वासन के बाद उनका गुस्सा शांत हुआ और वे वापस लौटे।

Read More: बूंद-बूंद को तरस रहा राजस्थान और 2.50 करोड़ लीटर पानी रोज बर्बाद कर रहा कोटा, 6 लाख लोगों की प्यास बुझा सकता है यह पानी

बूंदी में तोडफ़ोड़
बूंदी शहर की लुहार गली में नियमित जलापूर्ति नहीं होने से नाराज एक जने ने मंगलवार को यहां देवपुरा स्थित जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के सहायक अभियंता कार्यालय में जमकर हंगामा किया। सुनवाई नहीं होने का आरोप लगाकर युवक ने कार्यालय में सहायक अभियंता कक्ष की कुर्सियां फेंक दी, टेबल पर रखे कागज फाड़ दिए और कम्प्यूटर को टेबल पर गिरा दिया।

तय समय पर भी नहीं आ रहा पानी
पार्षद विकास तोमर ने कहा कि जलदाय विभाग के अधिकारियों ने टर्बिडिटी को देखते हुए शहरभर में जलापूर्ति के लिए समय निर्धारित किया, लेकिन लोग इस समय में पानी का इंतजार ही कर रहे हैं। अधिकतर क्षेत्रों में निर्धारित समय पर पानी नहीं मिल रहा।

Read More: चौंकाने वाला खुलासा: हर दिन भीलवाड़ा की प्यास बुझा दे, इतना पानी व्यर्थ बहा देता है कोटा

यहां हालत खराब
डीसीएम क्षेत्र के लोगों को बूंद-बंद पानी के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है। जलदाय विभाग को लगातार पानी की समस्या अवगत कराने के बाद भी पानी नहीं मिल रहा। इससे क्षुब्ध होकर मंगलवार को लोगों ने दूसरे दिन लगातार जेके नगर स्थित जलदाय विभाग की चौकी पर प्रदर्शन किया। प्रेम नगर तृतीय क्षेत्र की महिलाएं व लोग नारेबाजी करते हुए जेके चौकी पहुंचे और मटकियां फोड़ी। संदीप बेरवाल, आकाश, पार्वती बाई व सीमा ने बताया कि नलों में एक बूंद भी पानी नहीं आ रहा। राशि खर्च करके पानी मंगवाना पड़ रहा है।


टैंकर, लेकिन पर्याप्त नहीं
सामाजिक कार्यकर्ता विनोद बुर्ट के अनुसार क्षेत्र में जलदाय विभाग ने टैंकर भिजवाए हैं, लेकिन यह पर्याप्त नहीं है। तेजाजी के मंदिर क्षेत्र में सरकारी बोरिंग पर भीड़ लगी रहती है। कई लोग अपने स्तर पर पानी खरीद रहे हैं। मंगलवार को रात में पानी आया। महावीर नगर, छावनी, रामचन्द्रपुरा समेत अन्य कई क्षेत्र के लोगों ने बताया कि पानी निर्धारित समय पर नहीं आ रहा। पूर्व पार्षद नरेश हाड़ा के अनुसार जो समय निर्धारित है उसमें तो जलापूर्ति करें।

Read More: ससुराल में ऐश करता था पटवारी, दलाल निपटाता था काम, रिश्वत की कमाई से पीता था महंगी शराब, एसीबी ने खोले राज

बिजली बनी बाधक
मंगलवार को बिजली भी जलापूर्ति में बाधक बनी। जानकारी के अनुसार मरम्मत कार्य के चलते बिजली बंद रखी गई, इसका असर जलापूर्ति पर पड़ा। नए कोटा क्षेत्र के कई इलाकों जहां सुबह जल्दी जलापूर्ति का समय निर्धारित था, वहां तो जलापूर्ति हो गई, लेकिन कई जगहों पर निर्धारित समय पर बिजली बंद रहने से पानी नहीं मिला।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned