scriptwater increased in dams in 24 hours | बांधों में 24 घंटे में 143.24 एम क्यूएम पानी की बढ़ा | Patrika News

बांधों में 24 घंटे में 143.24 एम क्यूएम पानी की बढ़ा

पिछले दो दिनों से हो रही बारिश के चलते रविवार दोपहर तक 24 घंटे में राजस्थान के प्रमुख 22 बांधों में 143.24 एमक्यूएम पानी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। राजस्थान में प्रमुख 22 बांधों में कुल जल भराव बढ़कर 59.76 प्रतिशत हो गया है।

 

कोटा

Published: July 24, 2022 10:09:39 pm

कोटा. पिछले दो दिनों से हो रही बारिश के चलते रविवार दोपहर तक 24 घंटे में राजस्थान के प्रमुख 22 बांधों में 143.24 एमक्यूएम पानी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। राजस्थान में प्रमुख 22 बांधों में कुल जल भराव बढ़कर 59.76 प्रतिशत हो गया है। यह जल भराव गत 15 जून 2022 को 45.39 प्रतिशत था। चम्बल नदी पर बने गांधी सागर बांध में 65.11 प्रतिशत पानी उपलब्ध है। इसी तरह राणाप्रताप सागर में 89.83 प्रतिशत, जवाहर सागर में 77.12 और कोटा बैराज में 96.96 प्रतिशत जलभराव है। बूंदी जिले का गुढ़ा डेम 91.85 प्रतिशत और प्रतापगढ़ जिले के जाखम डेम क्षमता के अनुपात में 54.40 प्रतिशत पानी उपलब्ध है। राजस्थान में अभी भी 4.25 एम क्यूएम से अधिक क्षमता के 98 बांध अभी पूरी तरह खाली हैं और 165 बांध आधे भरे हुए हैं और 16 बांध पूरी क्षमता से भरे हुए हैं। बारिश शुरू होते ही चम्बल के सभी बांधों पर नियंत्रण कक्ष शुरू हो चुके हैं और पानी की आवक 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है।
Water
मानसून मेहरबान, हाड़ौती के 24 बांध छलके
कोटा संभाग में मानसून पूरी तरह से सक्रिय है। बीते कुछ दिनों से अच्छी बारिश से हाड़ौती के छोटे-बड़े कुल 113 बांधों में से 24 बांध पूरी तरह से फुल होकर छलक उठे। कोटा में रविवार को दिनभर उमस भरी गर्मी रही। दोपहर बाद घटाएं छाई और शाम 4 बजे तेज बारिश का दौर शुरू हो गया, जो आधा घंटे तक चला। सड़कों पर पानी बह निकाला और उसम से लोगों को राहत मिली।
मौसम विभाग के अनुसार, सुबह 8.30 से शाम 5.30 बजे तक 7.7 एमएम बारिश दर्ज की गई। बीते 24 घंटे में 20 एमएम बारिश दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 32.6 व न्यूनतम तापमान 24.7 डिग्री सेल्सियस रहा। कोटा में 1 जून से 23 जून तक 267.8 एमएम औसत बारिश की तुलना में 533.4 एमएम बारिश दर्ज की गई, जो औसत से 99 प्रतिशत अधिक है।
ये बांध हुए फुल
- कोटा जिले में अलनिया, सावनभादौ, डाहरा।
- बारां जिले में अहमदी, गोपालपुरा, उम्मेदसागर, हिन्डलोट।
- बूंदी जिले में बरधा बांध, चाकन, नारायणपुरा, पाईबालापुरा, अभयपुरा, रुणीजा।
- झालावाड़ जिले में गागरीन, कालीखार, गुलेण्डी, रेवा, सारनखेड़ी, मोगरा, बिनायगा, बोरदा, कंवरपुरा, बोरबंध, गुराडि़या।

दो दिन बाद बहाल हुआ कोटा-श्योपुर मार्ग
कोटा जिले में खातौली में पार्वती नदी में बरसाती पानी की आवक के चलते शुक्रवार को बंद हुआ कोटा- श्योपुर मार्ग रविवार दोपहर 1 बजे बाद बहाल हो गया। पार्वती नदी में पानी की आवक होने से शुक्रवार शाम 4 बजे पुल पर पानी आ जाने से आवागमन बंद हो गया था। शनिवार को दिन भर आवागमन बंद रहने के बाद रविवार सुबह से ही पार्वती नदी में बरसाती पानी का जल स्तर धीरे-धीरे कम होने लगा। इसके चलते करीब 1 बजे बाद पार्वती नदी पुल नजर आने लगा। उसके बाद आवागमन शुरू हो गया। वहीं चंबल झरेर पुलिया पर लगातार पानी की आवक होने से खातौली-सवाई माधोपुर मार्ग तीसरे सप्ताह भी लगातार बंद चल रहा है।
बारिश का दौर जारी, दो मार्ग हुए अवरुद्ध
बूंदी जिले में शनिवार रात को केशवरायपाटन क्षेत्र में तेज बारिश हुई। रविवार को बूंदी में शाम पांच बजे के लगभग हल्की बारिश हुई। नोताड़ा, जजावर में आधे घंटे तेज बारिश होने से लोगों को गर्मी से राहत मिली। मेज नदी की पुलिया पर पानी आने से पचीपला-डांगाहेड़ी मार्ग, खेडिय़ा खाळ पर पानी आने से देहीखेड़ा- खेडिय़ा दुर्जन मार्ग बंद है। शाम पांच बजे तक बीते 24 घंटों में बूंदी में 2, के.पाटन में 26, इन्द्रगढ़ में 2, नैनवां में 4 एमएम बारिश दर्ज की गई। वहीं जिले में बरधा बांध, चांदा का तालाब, जैतसागर पर चादर चलना शुरू हो गई है।
फिर गर्मी व उमस का जोर
बारां व झालावाड़ जिले में रविवार दोपहर तक बादलों की आवाजाही के बाद तेज धूप निकल आई। जिससे गर्मी के साथ उमस का भी अहसास हुआ। बारिश का दौर थमने से लोगों ने राहत की सांस ली।

सक्रिय रहेगा मानसून
मौसम विज्ञान केन्द्र निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। इससे संबंधित परिसंचरण तंत्र क्षोभमंडल के मध्य स्थलों तक विस्तृत है। मानसून ट्रफ लाइन भी राज्य के दक्षिणी भागों से होकर गुजर रही है। इन परिस्थिति के अनुसार आगामी तीन दिनों तक राज्य के दक्षिणी भागों में मानसून विशेष सक्रिय रहेगा। इससे जोधपुर, कोटा, अजमेर व उदयपुर संभाग के जिलों में अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश व कहीं-कहीं भारी बारिश होने की प्रबल संभावना है। जबकि भरतपुर, जयपुर व बीकानेर संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश का दौर जारी रहेगा। 27 जुलाई से मानसून ट्रफ लाइन के धीरे-धीरे उत्तर की ओर शिफ्ट होने से बारिश की गतिविधियां राज्य के उत्तरी भागों की ओर शिफ्ट होने की प्रबल संभावना है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

पाकिस्तानी नौसेना का वॉरशिप भारतीय इलाके में घुसा, फिर भारतीय एयरक्राफ्ट ने सिखाया सबकNITI Aayog Meeting: NITI आयोग की बैठक में हुई शिक्षा नीति समेत कई मुद्दों पर चर्चा, जानें क्या रहा खासBihar News: RCP सिंह के इस्तीफे के बाद गरजे अजय आलोक, कहा - 'ये नीतीश कुमार नहीं, बल्कि नाश कुमार है बिहार के CM'ISRO का SSLV-D1 की लॉन्चिंग हुई फेल, कहा- सैटेलाइट अब किसी काम का नहींगुजरात विधानसभा चुनाव से पहले अरविंद केजरीवाल ने आदिवासियों से किए 6 वादे, कहा- ट्राईबल एडवाइजरी कमिटी का इसी समाज से होगा चेयरमैनदिल्ली रोहतक रेलवे लाइन पर मालगाड़ी के 8 डिब्बे पटरी से उतरे, रेलवे ट्रैक जामजम्मू-कश्मीर : श्रद्धालुओं के आगमन में भारी गिरावट के बीच अमरनाथ यात्रा स्थगितPM मोदी की पाकिस्तानी बहन जो 27 साल से बांध रही राखी, इस बार 2024 के आम चुनावों के लिए दी शुभकामनाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.