...ऐसा क्या हुआ कि 12 मोरों ने ग्रामीणों के सामने तड़पते हुए दम तोड़ दिया

बारां के कांकड़दा का मामला, जांच के लिए विसरा रिपोर्ट कोटा भेजी

By: mukesh gour

Published: 26 Aug 2020, 12:07 AM IST

किशनगंज. काकड़दा पंचायत में पिछले दो दिनों में एक दर्जन से अधिक मोरों की रहस्यमयी मौत हो गई। सूचना पर वनविभाग की टीम ने मौके पर पहुुंचकर पडताल की। जानकारी के अनुसार सोमवार शाम करीब एक दर्जन मोर मृत अवस्था में मिलने पर ग्रामीणों ने वनविभाग को सूचना दी। यहां 11 मोर मृत व एक मोर तड़पता हुआ मिला। वनविभाग ने मृत मोरों का पोस्टमार्टम करवाकर जांच के लिए विसरा रिपोर्ट कोटा भिजवा दी। इसके बाद मंगलवार को कांकड़दा में एक मोर व पास ही किशनपनुरा बस्ती में दो मोरों की और मौत होने की सूचना वनविभाग को मिली। हालांकि वनविभाग के अनुसार मंगलवार को एक ही मोर की मौत होना बताया जा रहा है। मोरों की इस रहस्यमयी मौत के खुलासे के लिए विसरा रिपोर्ट का इन्तजार है। रेंजर भूपेन्द्र सिंह हाडा ने बताया कि मरने वाले मोरों में 7 नर व 5 मादा हैं।

read also : कोटा में बीच सड़क आग ने मचाया तांडव, देखिए लाइव वीडियो
जहर की आशंका!


वन विभाग व पशु चिकित्सा विभाग द्वारा प्रथम दृष्टया सभी मृत मोरों की किसी जहरीले पदार्थ के सेवन से मौत होना माना जा रहा है। कांकडदा में मोरों के साथ एक कौआ, एक गिलहरी व 6 मुर्गे भी मरे मिले। ऐसे में आशंका जहरीले खाने की नजर आ रही है। लेकिन लगातार दो दिन से हो रही मौंते परेशान करने वाली है।

read also : जयपुर जा रहे थे आधे रास्ते से लौटकर किया प्लाज्मा किया डोनेट


& मामले का खुलासा करने के लिए हमने विसरा रिपोर्ट जांच के लिए भिजवाई है। रिपोर्ट आने के बात ही खुलासा होगा। आशंका तो जहरीले पदार्थ खाने से मौत होने की है।
भूपेन्द्र सिंह हाड़ा, रेंजर किशनगंज

Show More
mukesh gour
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned