बस इतना करें,वन्यजीव दिखे तो सताएं नहीं

कोटा.वन्यजीव सप्ताह गुरुवार से शुरू हो गया। वन्यजीव विभाग के मुख्य वन संरक्षक व मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व के फील्ड डारेक्टर एसआर यादव ने सप्ताह का ऑनलाइन उद्घाटन किया। मुख्यवक्ता के रूप में वाइल्डलाइफ के विशेषज्ञ डॉ. अरविंद माथुर वन्यजीवों को रेस्क्यू करने के बारे में बताया।

By: Hemant Sharma

Published: 01 Oct 2020, 11:22 PM IST

कोटा.वन्यजीव सप्ताह गुरुवार से शुरू हो गया। वन्यजीव विभाग के मुख्य वन संरक्षक व मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व के फील्ड डारेक्टर एसआर यादव ने सप्ताह का ऑनलाइन उद्घाटन किया। मुख्यवक्ता के रूप में वाइल्डलाइफ के विशेषज्ञ डॉ. अरविंद माथुर ने वन्यजीवों को रेस्क्यू करने के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि कहीं भी कोई भी वन्यजीव नजर आए तो उसे सताएं नहीं। न ही उन्हें क्षति पहुंचाएं। सर्प इत्यादि नजर आने पर मारें नहीं, विभाग को सूचित करें। रास्त में कोई वन्यजीव नजर आए तो उसे निकल जानें दें।

वन्यजीव विभाग के उपवन संरक्षक आलोक गुप्ता, मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व के उपवन संरक्षक बीजो जोय, क्षेत्रीय वन अधिकारी मुकेश नाथ व वन्यजीव प्रेमी वर्चुअल कार्यक्रम में शामिल हुए। जयपुर से भी विभाग के अधिकारियों ने कार्यक्रम की सराहना की। विभाग के उपवन संरक्षक गुप्ता ने बताया कि सप्ताह का समापन 7 अक्टूबर को होगा। इससे पहले विभिन्न ऑनलाइन प्रतियोगिताओं व विभिन्न विषयों पर वेबिनार होगी।


बेबीनार, चित्रकला व रंगोली


चित्रकला प्रतियोगिता में प्रतिभागियों को ए-3 शीट विषयानुसार कक्षा 5 से 8 तक के लिए कोई भी वन्यजीव, कक्षा 9 से 12 तक के लिए इण्डियन पिट्टा (नवरंगा)कॉलेज वर्ग के लिए जंगल का पलाश का चित्र बनाकर तथा रंगोली प्रतियोगिता तहत कक्षा 5 से 8 के लिए जंगल का परिदृश्य, कक्षा 9 से 12 के लिए ब्लैक बक,कॉलेज वर्ग के लिए स्मूथ कोटेड ऑटर विषय पर रंगोली बनाते समय स्वयं की सेल्फी और रंगोली की फोटो 3 अक्टूबर तक भेजना होगा व 3 को 3.30 बजे से ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता होगी। योर स्टोरी ऑफ रेस्क्यू में प्रतिभागी द्वारा किसी भी एनिमल रेस्क्यू के प्रयास को30 सैकेण्ड की ऑडियो, वीडियो 4 अक्टूबर तक भेजना होगा।


निबंध व कविता लेखन


निबंध लेखन प्रतियोगिता में प्रतिभागी श्रेणी अनुसार विषय पर 400-500 शब्दों में निबंध लिखकर दी गई ई.मेल आईडी पर 4 अक्टूबर तक भेजा जा सकेगा। कक्षा 5 से 8 के लिए बाघ परियोजनाए कक्षा 9 से 12 के लिए चम्बल हाडौती का वरदानए कॉलेज वर्ग के लिए ओरण देवभूमि होगा। कविता लेखन प्रतियोगिता कक्षा 5 से 8 तक के लिए प्रकृति, कक्षा 9 से 12 के लिए वन्यजीव संरक्षण, कॉलेज वर्ग के लिए बाघ संरक्षण की महत्ता होगा। फोटोग्राफी प्रतियोगिता में प्रतिभागी प्राकृतिक परिवेश में मिलने वाले वन्यजीव के फोटो 5 अक्टूबर तक भेजे जाएंगे।
6 अक्टूबर तक निबंध व अन्य प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएंगी। समापन 7 को होगा।

Show More
Hemant Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned