Vaccination...जिंदगी बचाने का टीका लगाने के लिए युवाओं में दिखा उत्साह

सुबह 8 बजे से लाइन में लगे, टीका लगवाने के बाद बोले-अब जीवन सुरक्षित

By: Ranjeet singh solanki

Updated: 12 May 2021, 04:53 PM IST

Jhalawar.झालरापाटन । जिले में लम्बे इंतजार के बाद आखिरकार 18 प्लस के लोगों को कोरोना से बचाव के लिए कवच उपलब्ध करवाने का कार्य मंगलवार से शुरू हो गया। राजकीय सेटेलाइट अस्पताल में बनाए गए कस्बे के एकमात्र वैक्सीनेशन सेन्टर में वैक्सीन लगवाने के लिए युवाओं में पहली बार मतदान करने जैसा उत्साह दिखाई दिया। वह समय से पहले ही लाइन बनाकर खड़े हो गए और अपनी बारी आने तक बेसब्री से इंतजार भी किया। बचाव और राहत का टीका लगने के बाद इन युवाओं ने कहा कि अब उनका जीवन काफी हद तक सुरक्षित हो जाएगा। पहले दिन 18 प्लस वाले उन्हीं लोगों का टीका लगाया गया जिन्होनें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर अपना शैड्यूल स्लॉट बुक कराया था। पहले दिन 200 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसमें से 183 लोगों ने पहुंचकर टीका लगवाया।

पति-पत्नी और ननद ने एक साथ लगवाया टीका
कस्बे के ट्रांसपोर्ट नगर निवासी मोहित सैनी अपनी पत्नी और छोटी बहन के साथ वैक्सीन लगवाने पहुंचें। मोहित ने बताया कि वैक्सीन कब लग गई पता ही नही चला। मैं मेरी पत्नी और बहन के टीका लगवाने के लिए काफी उत्साहित था। जैसे ही पंजीयन प्रक्रिया शुरू हुई समय रहते पंजीयन करवाकर टीका लगवाया। अब मेरा पूरे परिवार का कोरोना संक्रमण से बचाव हो जाएगा।

अकेले जाकर लगवा ली वैक्सीन
बाईपास रोड़ निवासी यश गुप्ता ने बताया कि कोरोना टीका लगवाने के लिए उत्साह इतना था कि मैनें अकेले जाकर ही वैक्सीनेशन करवा लिया। मन में टीके को लेकर झिझक थी लेकिन टीका लगने का मालूम ही नही चला।
कई निराश लौटे
18 प्लस टीकाकरण की खबर सुनते ही कई लोग बिना पंजीयन कराए केवल आधार कार्ड लेकर सीधे टीकाकरण सेन्टर पहुंच गए। जहाँ से उन्हें निराश लौटना पड़ा। वहीं 45 से अधिक उम्र वाले लोगों को भी टीकाकरण नही हो पाया।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned