मौज के लिए ट्रेनों में करता था चोरी, दोस्तों को बताता था सेना का अधिकारी

कोटा. कोटा पुलिस ने एक संदिग्ध युवक को स्टेशन क्षेत्र स्थित एक होटल से गिरफ्तार किया है। दो माह से होटल में रहने वाले युवक के पास सेना की वर्दी, विदेशी मुद्रा, सात आईडी एवं दो मोबाइल मिले हैं। 15 अगस्त के दो दिन पहले संदिग्ध युवक के मिलने से पुलिस महकमा सतर्क हो गया था। संदिग्ध युवक को तत्काल गिरफ्तार कर पूछताछ की। युवक ट्रेनों में चोरी करने का आरोपी निकला, जो शौक के लिए व दोस्तों में प्रभाव डालने के लिए खुद को सेना का अधिकारी बताता था।

By: Deepak Sharma

Published: 12 Aug 2021, 10:03 PM IST

कोटा. कोटा पुलिस ने एक संदिग्ध युवक को स्टेशन क्षेत्र स्थित एक होटल से गिरफ्तार किया है। दो माह से होटल में रहने वाले युवक के पास सेना की वर्दी, विदेशी मुद्रा, सात आईडी एवं दो मोबाइल मिले हैं। 15 अगस्त के दो दिन पहले संदिग्ध युवक के मिलने से पुलिस महकमा सतर्क हो गया था। संदिग्ध युवक को तत्काल गिरफ्तार कर पूछताछ की। युवक ट्रेनों में चोरी करने का आरोपी निकला, जो शौक के लिए व दोस्तों में प्रभाव डालने के लिए खुद को सेना का अधिकारी बताता था।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण जैन ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए होटल व धर्मशालाओं की जांच की जा रही थी। इस दौरान स्टेशन क्षेत्र स्थित सिमरन होटल के संचालक सुरेन्द्र अदलक्खा ने रिपोर्ट दी कि उसके होटल में दस जून से एक युवक सीकर के बंधूर ढाणी की ढाका निवासी बताकर रुका हुआ है। होटल स्टाफ ने उसे कई बार कमरे में स्टार लगी सेना की काली वर्दी में देखा था। युवक का असली नाम विकास नामदेव (23) है तथा ग्राम इमलिया माधवनगर कैम्प कटनी मध्यप्रदेश का रहने वाला है।

होटल रजिस्टर में फर्जी हस्ताक्षर किए

जांच में सामने आया कि विकास गलत आईडी, गलत नाम पता देकर विकास कुमार के फर्जी हस्ताक्षर करके होटल में रुका रहा। विभागीय कार्य के चलते कोई भी व्यक्ति इतने समय सामान्यत: होटल में नहीं रुकता। इसी कारण होटल संचालक को शक हुआ।

सूबेदार रैंक के अधिकारी की थी वर्दी

आरोपी ने दिसम्बर 20 में ट्रेन में एक व्यक्ति का पर्स चुराया था। उस व्यक्ति का नाम विकास कुमार पुत्र छगनलाल निवासी ढाका की ढाणी जिला सीकर था। लोगों पर प्रभाव जमाने के लिएआर्मी के सूबेदार रैंक के अधिकारी की वर्दी सिलवा रखी थी तथा सोशल मीडिया व इंटरनेट से सेना में विभिन्न पदों व ट्रेनिंग सेंटर की जानकारी जुटा रखी थी।

ट्रेनों में चोरी करने का आदी

भीमगंजमंडी थानाधिकारी लक्ष्मणलाल ने बताया कि पूछताछ में विकास ने ट्रेन में सोए यात्रियों के सामान चोरी करना कबूला है। वह काफी कम उम्र से चोरी कर रहा है। चुराये गए सामानों में जो आईडी मिलती थी, उसी आईडी से होटलों में रुकता था। उसके पास से सेना की वर्दी, विदेशी मुद्रा के 10 नोट एवं 15 सिक्के, ट्रेनों से चुराई 7 आईडी व दो मोबाइल मिले हैं। आरोपी के खिलाफ जीआरपी कटनी में तीन तथा जीआरपी राजगढ़ में एक व जीआरपी देवास में दो मामले पूर्व में दर्ज हैं।

Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned