जयपुर से रात बूंदी पहुंचा पति और सुबह विधवा हो गई पत्नी, उजड़ गया मांग का सिंदूर

Road Accident, Bike Accident,  Road Accident in Rajasthan: शादी को अभी एक साल भी पूरा नहीं हुआ था कि नियति ने सुहागिन को विधवा बना दिया।

By: ​Zuber Khan

Updated: 01 Mar 2020, 02:47 AM IST

देई. शादी को अभी एक साल भी पूरा नहीं हुआ था कि नियति ने सुहागिन को विधवा बना दिया। उसकी मांग का सिंदूर कौन उजाड़ गया यह भी पता नहीं लग सका। सुबह परिवार में हंसीखुशी का माहौल था। युवक बाइक से खाद लेने घर से निकला ही था कि रास्त में उसकी दर्दनाक मौत हो गई। सूचना से परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। दरअसल बूंदी जिले के जैतपुर गांव में नाइपुरा मोड पर शनिवार को सड़क दुर्घटना ( Road Accident ) में बाइक सवार एक युवक की मौत हो गई, ( Youth Killed in Bike Accident ) जबकि दो बच्चे घायल हो गए। घायलों का यहां चिकित्सालय में इलाज कराया गया।

Read More: दर्दनाक: ट्रक की भीषण टक्कर से बाइक सवार पति की गर्दन धड़ से अलग, 12 फीट दूर गिरा सिर, पत्नी की हालत नाजुक

पुलिस सूत्रों ने बताया कि तुम्बीपुरा निवासी 27 वर्षीय राकेश बैरवा बाइक से देई खाद के कट्टे लेने जा रहा था। रास्ते में उसे गांव के जैतपुर जा रहे 9 वर्षीय कौशल गुर्जर एवं दिनेश बैरवा मिले, जिन्हें उसने बाइक पर बैठा लिया। जैतपुर पहुंचने पर दोनों को देई चलने की बात कही।तभी जैतपुर में नाइपुरा मोड पर दुर्घटना हो गई। राकेश की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। पीछे बैठे दोनों बच्चे घायल हो गए। घटना कैसे हुई यह दोनों स्पष्ट नहीं कर पाए। पुलिस को बाइक का संतुलन बिगडऩे और अज्ञात वाहन के टक्कर मारने की रिपोर्ट सौंपी गई। तब पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द किया। दुर्घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। राकेश की शादी हुए अभी एक वर्ष भी पूरा नहीं हुआ। राकेश जयपुर में रहकर पेंटिंग का काम कर रहा था, वह शुक्रवार रात को अपने गांव आया था।

Read More: राजस्थान में मध्यप्रदेश के दो सगे भाइयों की दर्दनाक मौत, तीसरे की हालत नाजुक, परिवार में मचा कोहराम

पेपर लेने भेज दिए
अस्पताल में घायल बच्चे तुम्बीपुरा की स्कूल में कक्षा पांचवीं में पढ़ते थे। जहां से उन्हें अध्यापक ने पेपर लेने भेजा था। रास्ते में वह राकेश की बाइक पर बैठ गए। इस बारे में राजकीय माध्यमिक विद्यालय जैतपुर प्रधानाचार्य व पीइइओ बृजमोहन मीणा ने बताया कि घटना की जानकारी मिली। विद्यालय के प्रधानाध्यापक देवलाल गुर्जर को पांचवीं की गुणवत्ता परीक्षा हिंदी-गणित के पेपर दिए थे। देवलाल को मीणा की झोंपडिय़ा में प्रतिनियुक्ति पर लगा रखा था। उसने तुम्बीपुरा विद्यालय के अध्यापक को सूचित किया जिस पर उसने विद्यालय के दोनों बच्चों को पेपर लेने भेज दिया। प्रधानाध्यापकके आने से पहले ही दुर्घटना घटित हो गई।

Show More
​Zuber Khan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned