कृषि विभाग ने माना, 5724.9 हैक्टेयर में प्रभावित हुई फसलें

कृषि विभाग ने माना, 5724.9 हैक्टेयर में प्रभावित हुई फसलें

Kamlesh Meena | Publish: Mar, 08 2018 12:15:16 PM (IST) Kuchaman City, Rajasthan, India

कुचामन सहायक निदेशक कृषि कार्यालय क्षेत्र का मामला, डीडवाना ब्लॉक में हुआ सर्वाधिक नुकसान

कुचामनसिटी. 4 मार्च को बेमौसम बरसात एवं ओलावृष्टि से हुए नुकसान का कृषि विभाग ने भी आंकलन पूरा कर लिया है। विभाग ने कुचामन सहायक निदेशक कृषि कार्यालय क्षेत्र के डीडवाना ब्लॉक में सबसे ज्यादा खराबा माना है। मंगलवार को जिला प्रशासन की सर्वे रिपोर्ट सामने आई थी। इधर, कृषि विभाग की सर्वे रिपोर्ट में क्षेत्र के डीडवाना, कुचामन व नावां ब्लॉक में 5724.9 हैक्टेयर में फसलों को नुकसान पहुंचा है। डीडवाना ब्लॉक के 84 गांवों में सर्वाधिक 4460, कुचामन में 50 गांवों में 331.9 तथा नावां ब्लॉक के 30 गांवों में 933 हैक्टेयर क्षेत्र में फसल को नुकसान पहुंचा है। नावां के रामसर में 40 प्रतिशत तथा डीडवाना के खरेश, बकवास, शालिया, रुवां में 70 प्रतिशत तथा गेहूं, जौ, प्याज व सरसों में 5-10 प्रतिशत नुकसान हुआ है। जिन फसलों में खराबा हुआ है, उनमें ईसबगोल, जीरा, प्याज, जौ, गेहूं, सरसों, चना, मैथी की फसल शामिल है। इधर, कृषि विभाग के कुचामन सहायक निदेशक भंवरलाल बाजिया ने बताया कि सर्वे रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। जिला प्रशासन की रिपोर्ट व अन्य रिपोर्ट लगभग समान है। तोषिना में 30-40प्रतिशत तथा चांवडिया व अडक़सर में नुकसान हुआ है।

इधर, जिला प्रशासन ने भी किया आंकलन
जिला प्रशासन ने कुचामन व नावां ब्लॉक में ओलावृष्टि से नुकसान को माना है। कुचामन ब्लॉक में जहां कम नुकसान हुआ है। वहीं नावां ब्लॉक में 40 फीसदी तक फसलों में नुकसान माना है। इधर कृषि विभाग ने भी सहायक कृषि अधिकारियों व पर्यवेक्षकों को खराबे का आंकलन करने के निर्देश दिए थे, लेकिन मंगलवार तक रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई। जानकारी के अनुसार उप निदेशक कार्यालय ने पूर्व में दूसरा प्रपत्र भेजा था। इसके बाद विभाग ने दुबारा सहायक कृषि अधिकारियों व पर्यवेक्षकों को नया प्रपत्र भेजा, जिसको भरकर मंगलवार शाम तक देना था, लेकिन कई जगहों से प्रपत्र नहीं आए। ऐसे में रिपोर्ट तैयार नहीं हो पाई। अब बुधवार सुबह तक खराबे की रिपोर्ट मिलने की उम्मीद है। इधर अतिरिक्त जिला कलक्टर (सहायता) की ओर से ओलावृष्टि एवं वर्षा से नुकसान की सूचना आपदा प्रबंधन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग के शासन सचिव को भिजवाई गई। कुचामन ब्लॉक के आधा दर्जन गांवों में 15-20 प्रतिशत नुकसान माना। जबकि नावां ब्लॉक के करीब एक दर्जन गांवों में 35 से 40 फीसदी खराबे का आंकलन किया गया है। कुचामन ब्लॉक में पांच एमएम वर्षा के साथ बेर के आकार के ओले गिरे, जबकि नावां ब्लॉक में इसबगोल एवं प्याज की फसलों में वर्षा एवं चने के आकार के ओलों से 35 से 40 प्रतिशत नुकसान हुआ।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned