ग्रामीणों ने ग्रामसेवक व लिपिक पर आवेदन नहीं लेने का लगाया आरोप

ग्रामीणों ने ग्रामसेवक व लिपिक पर आवेदन नहीं लेने का लगाया आरोप

Kamlesh Meena | Publish: Jun, 07 2018 11:10:23 AM (IST) Kuchaman City, Rajasthan, India

प्रधानमंत्री आवास योजना

कुचामनसिटी. पंचायत समिति परिसर में ग्राम पंचायत प्रेमपुरा के लोगों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम नहीं जोडऩे एवं आवेदन नहीं लेने को लेकर जमकर हंगामा किया। ग्रामीणों ने नारेबाजी करते हुए पंचायत समिति परिसर में धरने पर बैठ गए। आखिर शाम को कार्यवाहक विकास अधिकार राजेन्द्र आत्रे ने तीन सदस्यों की एक टीम गठित कर जांच करने के आदेश देने के बाद मामला शांत हुआ।
ग्राम पंचायत प्रेमपुरा के ग्रामीणों ने पंचायत के ग्रामसेवक व कनिष्ठ लिपिक पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना की वरियता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन तैयार कर ग्राम पंचायत कार्यालय में प्रस्तुत किए थे। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि ग्रामसेवक व कनिष्ठ लिपिक ने न तो लाभार्थियों का सर्वे किया और न ही ग्रामीणों से आवेदन प्राप्त किए।

ग्रामसभा में 140 आवेदनों में से 65 को माना पात्र
प्रधानमंत्री आवास योजना में पात्र लोगों को लाभ पहुंचे इसके लिए २५ अप्रेल को ग्राम पंचायत में ग्राम सभा आयोजित हुई। ग्रामसभा में सरपंच अंजू चौधरी की मौजूदगी में 140 आवेदन अपीलों पर विचार-विमर्श हुआ। जिनमें से 65 पात्र लोगों का नाम चयन कर लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि 65 में केवल तीन ही आवेदनकर्ताओं का नाम इस योजना में जोड़ा गया। जबकि शेष लोगों के नाम निरस्त कर दिए। इधर ग्रामसेवक कमलकिशोर शर्मा से बात करने पर उन्होंने बताया कि आवेदन लेने की अंतिम तिथि निकलने के बाद यह आवेदन आए है।

दिया ज्ञापन, सूची बनवाने की उठाई मांग
प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम निरस्त करने से खफा होकर ग्रामीण पंचायत परिसर में धरने पर बैठ गए। इस दौरान पंचायत के सरपंच अंजू चौधरी, सरपंच प्रतिनिधि नेमाराम कीलका, पंचायत समिति सदस्य अमरसिंह प्रेमपुरा सहित कई ग्रामीण मौजूद रहे। ग्रामीणों ने कार्यवाहक विकास अधिकारी राजेन्द्र आत्रे को पुन: सर्वे कर नाम जुड़वाने एवं प्राप्त आवेदनों की जांच करवाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।

इनका कहना है
25 अप्रेल को ग्राम सभा आयोजित हुई थी। जिसमें 140 आवेदनों पर विचार-विमर्श कर 65 अपीलार्थियों को आवास योजना में नाम जोडऩे का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया। ग्रामसेवक कमलकुमार एवं कनिष्ठ लिपिक मदनलाल ने मनमानी कर केवल तीन आवेदनकर्ताओं को पात्र माना है।
- अंजु चौधरी, सरपंच ग्राम पंचायत प्रेमपुरा

गत 16 अप्रेल तक प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन लेने थे। इस दिनांक तक मात्र छ: आवेदन ही आए थे। जिसमें से तीन आवेदनों को सही माना है।
- कमल कुमार शर्मा, ग्रामसेवक, ग्राम पंचायत प्रेमपुरा

ग्राम पंचायत प्रेमपुरा के लोगों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम निरस्त करने को लेकर ज्ञापन दिया है। तीन सदस्यों की एक टीम गठित कर जांच के आदेश दिए है।
- राजेन्द्र आत्रे, कार्यवाहक विकास अधिकारी, कुचामन

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned