इंटरनेट गेटवे बाईपास कर विदेशों में बात कराने वाले गिरोह के 6 लोगों को एटीएस ने पकड़ा

देश की सुरक्षा के साथ भी खिलवाड़ कर रहे थे अपराधी, करोडों रुपये का लग रहा था चुना

By: Ashish Shukla

Published: 20 Jan 2018, 10:37 PM IST

अवधेश मल्ल की रिपोर्ट...

कुशीनगर. इंटरनेट गेटवे को बाईपास कर लोगों को विदेशों मे बात कराने वाले एक बडे गिरोह के सरगना सहित एटीएस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। कुशीनगर जनपद के अहिरौली थाने के तिनहवा बाजार में अवैध कॉल सेंटर संचालित कर गिरोह के लोग सरकार को करोड़ो रुयये की क्षति पहुंचाने के साथ - साथ देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे थे।

विदेशों में कराई जा रही वॉयस कॉल को गिरोह के लोग सिम बॉक्स के जरिए बदल देते थे जिससे विदेशी नंबर डिसप्ले पर भारतीय नंबर जैसा दिखाई देने लगता था। नतीजतन टेलीफोन नियामक कंपनी विदेशों में होने वाली बातचीत की मॉनीटरिंग नहीं कर पाती थी। गिरोह के सरगना को जब एटीएस ने पकड़ा तो उसके नेटवर्क पर एक साथ 6 हजार कॉल चल रही थी।

सभी के खिलाफ अहिरौली थाने में जालसाजी, धोखाधडी, षडयंत्र रचने की धारा सहित संगीन धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। गिरफ्तार सभी नटवरलालों को पुलिस ने सीजीएम कसया के न्यायालय में आज पेश किया। न्यायालय ने सभी को शनिवार को जेल भेज दिया है। इस मामले में कुछ और गिरफ्तारियां होने की संभावना है। पूछताछ में और बडे खुलासे की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

 

मिली जानकारी के मुताबिक, बीते वर्ष एटीएस ने देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करते हुए विदेशों में बात कराने वाले 27 लोगों को गिरफ्तार किया था. इन लोगों से पूछताछ से पता चला कि गिरोह का सरगना अहिरौली थाना के गांव तुर्कडीहा निवासी रामप्रताप सिंह है. एटीएस तभी से रामप्रताप को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाने में जुट गई थी. एटीएस के अपने सूत्रों से पता चला कि रामप्रताप कुशीनगर जनपद में छिपा हुआ है और अहिरौली थाना के तिनहवा बाजार में अवैध कॉल सेंटर के जरिए अपना गोरखधंधा चला रहा है।

इसके बाद एटीएस ने कुशीनगर जनपद के कप्तानगंज ,अहिरौली बाजार की पुलिस व टर्म सेल ( टेलीकॉम इनफोर्समेंट रिसोर्स एंड मॉनीटरिंग सेल) के साथ तिनहवा बाजार में एक दो मंजिले मकान में अवैध रूप से संचालित हो रहे आरएन टेलीकॉम प्राईवेट लिमिटेड पर छापा मार दिया।

एटीएस ने अहिरौली थाना के गांव तुर्कडीहा निवासी सरगना रामप्रताप सिंह , खोट्ठा गांव निवासी बृजेश पटेल, तिनहवा गांव निवासी रामसिंगार सिंह, भलुहा गांव निवासी हरिकेश बहादुर सिंह, विशुनपुरा गांव निवासी संतोष सिंह तथा भलुहा गांव निवासी विजय कुमार शर्मा को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से एटीएस ने 8 लैपटॉप, 15 मोबाईल, 4 पेनड्राईव , 3 मॉडम, मनीकॉउंटिंग मशीन, एंटीना तथा 17 सिमकार्ड बरामद किया है. पुलिस व एटीएस ने आज सभी को कसया स्थित सीजेएम के न्यायालय में पेश किया।

न्यायालय ने सभी को जेल भेज दिया है। सूत्रों के मुताबिक ग्राहक के स्मार्ट फोन में एक एप इंस्टाल कर विदेशों में बात कराते थे। सूत्र बतातें है कि रिमांड पर लेकर पुलिस के पूछताछ करने कें बाद कई चौकाने वाली बड़ी बातों का खुलासा हो सकता है।

Ashish Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned