भासपा विधायक व उनके पुत्र सहित सवा सौ से इस केस में हैं आरोपी, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया यह आदेश

भासपा विधायक व उनके पुत्र सहित सवा सौ से इस केस में हैं आरोपी, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया यह आदेश
arson

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 25 Aug 2019, 07:45:55 AM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India


प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि आगजनी का मामला संदिग्ध, पुलिस ने नवरंग सिंह को झूठे केस में फंसा मामला बढ़ाया

रामकोला विधायक रामानंद बौद्ध सहित 138 लोग कुशीनगर के जगदीपुर बरडीहा कांड प्रकरण में आरोपी हैं, उस प्रकरण में बेकसूरों को भी फंसाने का आरोप लग रहा है। शनिवार को एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। भाजपा नेत्री की अगुवाई में मिलने पहुंचे प्रतिनिधिमंडल ने मांग किया कि बेकसूर लोगों पर से केस वापस लिए जाए। आरोप लगाया कि ग्रामसभा की जमीन पर कब्जे की रंजिश में बेकसूर कलाकार को एनडीपीएस में गिरफ्तार कर जेल भेजा। फिर साजिशन जेल में उसकी मौत की अफवाह फैलाकर बवाल कराया गया।

Read this also: भासपा विधायक की मुश्किलें बढ़ी, विधायक व उनके पुत्र समेत 78 नामजद लोगों पर लूटपाट, आगजनी का केस

भाजपा नेत्री सुचिता पासवान के नेतृत्व में कुशीनगर जिले के जगदीशपुर, बरडीहा, गिदहा, विशुनपुरा, मुजहना के ग्राम प्रधान, पूर्व ग्राम प्रधान, बीडीसी सदस्य समेत काफी संख्या में लोग शनिवार को गोरखनाथ मंदिर में सीएम से मिले। सीएम को बताया कि जगदीशपुर ग्राम सभा में संतोष पाण्डेय एवं उनके परिजनों ने 8 एयर जमीन बैनामा लिया लेकिन गाटा संख्या 750 पर कब्जे की नियत से वहां स्थित गुमटी को हटाने के लिए पीडब्ल्यूडी के अभियंता से आदेश करा दिया। 15 जून को गुमटी हटाने की कोशिश भीड़ जुटने के कारण सफल नहीं हो पाई, जिस कारण नवरंग सिंह से थानाध्यक्ष नाराज हो गए। 18 जून को उन्होंने लोगों के खिलाफ रास्ता जाम करने की एफआईआर दर्ज करा दिया। लेकिन न तो गिरफ्तारी हुई न गुमटी हटी। इसी रंजिश में 14 अगस्त को नवरंग सिंह को एनडीपीएस के झूठे मामले में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 16 अगस्त को साजिश के तहत जेल में नवरंग सिंह के मौत की खबर फैलाई, जिस पर आक्रोशित लोग सड़क आ गए। संदिग्ध परिस्थितियों में आगजनी हुई। निर्दोष ग्रामीणों पर एफआईआर दर्ज कर दी गई।
प्रतिनिधि मण्डल ने पूरे मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई और निर्दोष लोगों पर दर्ज मुकदमें वापस लेने की मांग की है। प्रतिनिधि मण्डल में मेढ़ई कन्नौजिया, कपिलदेव गुप्ता, रामजी गुप्ता, रामचंदर, मुक्तिनाथ सिंह, असगर अली, रामसिंह, ब्रह्मा सिंह, निवास सिंह, हारुन अली आदि शामिल रहे।

Read this also: 71 भेड़ों के बदले पत्नी को boyfriend के हवाले करने वाला पति गया जेल, भेड़ चोरी का मामला दर्ज कर पुलिस ने भेजा जेल

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned