PM मोदी के नारा बना बुद्धिमानों का बनाया हथियार, प्रधानमंत्री व केंद्र सरकार को बदनाम करने की रच दी है साजिश

बेटी बचाओ अभियान के तहत दो लाख रुपये पाने के लिए बेचा जा रहा है रजिस्ट्रेशन फार्म

अवधेश मल्ल
कुशीनगर. प्रधानमंत्री के नारे "बेटी बचाओ, बेटी पढाओ" से ही बुद्धिमानों ने उनकी छवि गिराने व केंद्र सरकार को परेशान करने का जाल बिछा दिया है। पूरे कुशीनगर जिले में बेटी बचाओ अभियान के तहत दो लाख रुपये पाने के लिए बड़े पैमाने पर रजिस्ट्रेशन फार्म बेचा जा रहा। इस फार्म के नीचे भारत सरकार महिला एवं भारत बाल विकास, शास्त्री नगर नई दिल्ली का बकायदा पता भी दिया गया. दो लाख रुपये पाने के लालच में हजारों की संख्या में प्रतिदिन दिए गए पते पर लोग रजिस्ट्री कर रहे हैं।


मालूम रहे कि कन्या भ्रूण हत्या रोकने और बेटियों को बराबरी के दर्जे के साथ समाज में पूरी तरह से स्थापित करने की गरज से केंद्र सरकार ने "बेटी बचाओ, बेटी बचाओं" का नारा दे रखा है। "बुद्धिमानों" ने इस नारे के जरिए ही प्रधानमंत्री की छवि खराब करने और केंद्र सरकार को मुश्किल में डालने के लिए जाल बिछा दिया है। दरअसल कुछ दिन पूर्व एक अफवाह हवा में तैरने लगी कि बेटी बचाए अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो लाख रुपये दिलवाएंगे। दो दिन पूर्व इसके लिए रजिस्ट्रेशन फार्म भी बाजार में आ गया।

 

धंधेबाज तीन-पांच रुपये में धडल्ले से फार्म बेचने लगे हैं। दो लाख रुपये पाने की लालच में बड़ी संख्या लोग फार्म खरीद कर फार्म के नीचे दिए गए पते पर रजिस्ट्री कर रहे है। अब तक हजारों की संख्यां में "भारत सरकार महिला एवं भारत बाल विकास मंत्रालय, नई दिल्ली" के पते पर पंजीकृत डाक से फार्म भेज जा चुके हैं। डाकघरों पर रजिस्ट्री करने की लम्बी लाईन लगने लगी है। जबकि सूत्रों के मुताबिक इस तरह की कोई योजना केंद्र सरकार नहीं लागू की है।

 

यह जाल किसने बिछाई यह तो जांच का विषय है लेकिन यह तो तय है कि एक सोची समझी रणनीति के तहत इस अफवाह को उड़ाया गया है। कारण यह कि करीब 40 रुपये खर्च कर लोग रजिस्ट्री कर रहे हैं। रुपये नहीं मिलने पर केंद्र सरकार व प्रधानमंत्री को कठघरे में खड़ा करेंगे। प्रधानमंत्री पर तरह- तरह के आरोप मढ़ेंगे। कारण यह कि पंजीकृत डाक से फार्म भेजने वाले अधिकतर लोग कम पढे-लिखे हैं। सूत्रों के मुताबिक पूरे प्रदेश में इस तरह के फार्म बेचे जा रहे हैं। कुशीनगर जिले के अपर जिलाधिकारी कृष्ण लाल तिवारी इस तरह की किसी भी योजना की जानकारी से इंकार कर रहे है। उनका कहना है कि इस बारे विभागों से जानकारी मांगी जाएगी।
By AK Mall

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned