पुलिस इंस्पेक्टर की गाड़ी से शराब तस्करी का मामला विधानसभा में गूंजा तो सरकार ने आनन फानन में उठाया यह कदम

पुलिस इंस्पेक्टर की गाड़ी से शराब तस्करी का मामला विधानसभा में गूंजा तो सरकार ने आनन फानन में उठाया यह कदम

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 25 Jul 2019, 03:33:42 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

  • जांच अधिकारी की रिपोर्ट आईजी ने भेजी( Investigating officer gives report to Inspector general og Police)
  • एसओ की प्राइवेट गाड़ी से 250 लीटर शराब मिलने की पुष्टि
  • एसओ ने थाने पहुंचने के पहले ही तस्कर मनीष को फरार कर दिया(SO Kasia helped Smuggler to flew away)
  • पुलिस के कई लोग इस मामले में संलिप्त
  • सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो से खुला सारा राज, खाकी पर लगा दाग धोने में जुटे अफसर

कुशीनगर के कसया एसओ सुनील राय की प्राइवेट गाड़ी में अवैध शराब पकड़े जाने का मामला(Police officer involved in Alcohol smuggling) तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस के नेता विधानमंडल दल अजय कुमार लल्लू ने बुधवार को विधानसभा में यह मामला उठाया( CLP leader ajay kumar lallu raised question in Vidhan sabha)। विधानसभा में मामला पहुंचने के बाद आनन फानन में कार्रवार्इयों का दौर शुरू हुआ।

उधर, जांच अधिकारी एएसपी गौरव वंशवाल की रिपोर्ट को आईजी जेएन सिंह ( IO Gaurav Banswal submitted investigation report to IG JN Singh)ने शासन को भेज दी है। जांच अधिकारी की रिपोर्ट में साफ है कि एसओ की प्राइवेट गाड़ी में अवैध शराब लादा जा रहा था और पकड़े गए आरोपी को एसओ के इशारे पर ही आनन फानन में छोड़ दिया गया( IO finding is that SO kasia is involved in matter and allegation of relieving smuggler is true)। एसपी कुशीनगर ने आरोपी एसओ सुनील राय को लाइन हाजिर कर दिया है।

यह भी पढ़ें- यूपी में बेखौफ खाकी, एसओ की गाड़ी से हो रही शराब तस्करी

 

शुक्रवार को मामला में विधानसभा में सरकार देगी जवाब

कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू (CLP Leader Ajay Kumar lallu)ने कुशीनगर में अवैध शराब के धंधे व इसमें लिप्त खाकी का मामला उठाया। उन्होंने कसया एसओ सुनील राय की गाड़ी में अवैध शराब पुलिस टीम द्वारा पकड़े जाने और तस्कर मनीष को छोड़े जाने का मामला सदन में नियम 51 के तहत रखा। मामला सदन में पहुंचने के बाद जांच और कार्रवाई तेज हो गई। सरकार को शुक्रवार को जवाब देना है।

यह भी पढ़ें- नई नवेली दुल्हन से सुसर ने किया रेप, ससुरालियों को बताया तो सबने कहा चुप रहो

उधर, जांच कर रहे एएसपी गौरव वंशवाल ने अपनी रिपोर्ट आईजी जयनारायण सिंह के माध्यम से शासन को भेज दी है(IG JN Singh has sent IO Gaurav report to government)। बताया जा रहा है कि जांच रिपोर्ट में पूरे घटनाक्रम और अवैध धंधे के सिंडिकेट का जिक्र है( IO has given brief report of smugglers and syndicate)। सूत्रों की मानें तो रिपोर्ट में बताया गया है कि गलत तरीके से पुलिस ने तस्कर मनीष को थाने से छोड़।(According to report Station Officer hasrelieved smuggler manish illegaly) यही नहीं तस्कर और पूरे सिंडिकेट को बचाने के लिए दरोगा धर्मेंद्र कुमार की तहरीर में ट्रक चालक अब्दुल्ला का जिक्र है लेकिन तस्कर के नाम का उल्लेख नहीं है।(To save smuggler and syndicate the FIR is manipulated by Police) बताया जा रहा है कि तस्कर को पकड़कर सीओ तमकुही ने कसया पुलिस के हवाले कर दिया लेकिन सीओ के पहुंचने के पहले ही थाने से तस्कर को फरार कर दिया गया।

यह भी पढ़ें- कुछ फीट जमीन के लिए पांच लोगों को काट डाला था, अब आया यह फैसला

सोशल मीडिया बना बड़ा हथियार इस खुलासे में

दरअसल, कसया में जिस ट्रक से अवैध शराब एसओ की प्राइवेट गाड़ी में लादा जा रहा था उस मामले में कुछ समझौता हो गया था। मामला बताया जा रहा है कि दब गया था लेकिन मामला दबता देख किसी पुलिसवाले को नागवार लगा और उसने चुपके से वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। अवैध शराब लाद रहे चैकीदारों से पूछताछ का वीडियो वायरल होने के बाद मामला तूल पकड़ लिया। शासन तक मामला पहुंचने के बाद आईजी जेएन सिंह कसया पहुंचे। एएसपी गौरव वंशवाल को जांच सौंपी।

यह भी पढ़ें- क्रिकेट का गेंद ढूंढ़ रहे युवक को पूर्वांचल के चर्चित उद्योगपति के कैंपस में गोली मारी गई, हालत नाजुक

एसओ सुनील राय पर यह है इस मामले में आरोप

कसया थाने के एसओ सुनील राय पर आरोप है कि वह किसी रिश्तेदार के ट्रक से अवैध शराब अपने घर के किसी सदस्य के नाम पर पंजीकृत प्राइवेट गाड़ी में लदवा रहे थे।(The vehicle in which illegal alcohol was loaded was of Police inspector Sunil Rai family member's) जबकि पुलिस रूल के मुताबिक अवैध शराब को पुलिस अपने निजी गाड़ी में किसी भी सूरत में नहीं लदवाएगी। यही नहीं सीओ तमकुहीराज जिन्होंने अवैध शराब पकड़ा था, ने तस्कर मनीष को पकड़कर एसओ को सुपुर्द किया था लेकिन एसओ ने थाने पहुंचने के पहले ही उसे छोड़ दिया। पुलिस जांच में एसओ की प्राइवेट गाड़ी से 250 लीटर अवैध शराब मिली।

यह भी पढ़ें- एम्स का निर्माण कर रहे दिहाड़ी मजदूर काम छोड़ भाग रहे

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned