चुपके से हो रहा था निकाह, लव जिहाद के शक पुलिस ने मारा छापा तो भाग खड़े हुए दूल्हा दुल्हन, बाद में कुछ और निकला मामला

  • आजमगढ़ के मुबारकपुर की थी लड़की और कुशीनगर का लड़का
  • पुलिस पूछताछ के लिये मौलवी और एक युवक को भी थाले ले गई

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कुशीनगर. लव जेहाद कांस्पिरेसी थ्योरी की चर्चा इन दिनों सूबे में जोरों पर है। यूपी के कुशीनगर में तो लव जेहाद के शक में पुलिस ने गुपचुप हो रहे निकाह की सूचना पर छापेमारी की तो दूल्हा और दुल्हन ही भाग निकले। हालांकि बाद में मामला कुछ और ही निकला। छापेमारी के बाद पुलिस निकाह पढ़ाने वाले मौलवी और एक अन्य युवक को थाने भी ले आयी थी, लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया।

 

जानकारी के मुताबिक मंगलवार की शाम कुशीनगर के कसया थाने की पुलिस को आजमगढ़ के मुाबरकपुर से लाई गई युवती का स्थानीय गुमरिया गांव में निकाह कराया जा रहा है। पुलिस को जो जानकारी मिली उसमें लड़के के अलग धर्म का होने की बात कही गई। इसके बाद लव जेहाद की आशंका में पुलिस ने गुमरिया गांव पहुंचकर निकाह वाली जगह पर छापेमारी की। पुलिस के पहुंचते ही दूल्हा और दुल्हन वहां से भाग निकले। पुलिस निकाह पढ़ाने वाले मौलवी के साथ उस युवक को भी थाने ले गई, जिसका मकान था।

 

थाने ले जाकर जब उनसे पूछताछ और छानबीन की गई तो पता चला कि मामला कुछ और ही निकला। लड़का और लड़की गुमरिया गांव के नहीं थे, लेकिन दोनों एक ही धर्म के थे। लड़का कसया के अहिरौली गांव का तो लड़की आजमगढ़ के मुबारकपुर थानाक्षेत्र की रहने वाली थी। पुलिस ने पूरे मामले से मुबारकपुर थाने को अवगत कराया। पुलिस ने मौके से भागे दूल्हा और दुल्हन का भी पता लगा लिया। दोनों के सामने आने के बाद यह पुष्ट हो गया कि दोनों एक ही धर्म के हैं। हालांकि मुबारकपुर थाने से यह भी जानकारी हुई कि वहां युवती के अपहरण का केस दर्ज है।


इस बाबत कसया इंस्पेक्टर अजय कुमार ने बताया कि लड़की और लड़का दोनों ने अपने बालिग होने का प्रमाण दिया है। लड़की के परिजन शादी के खिलाफ थे इसलिये दोनों यहां निकाह कर रहे थे। लड़की के बाबत मुबारकपुर पुलिस को सूचना दे दी गई है। आगे की कार्रवाई वहां होगी।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned