अखिलेश यादव के लिये खतरे की घंटी, सपा नेताओं ने किया भाजपा का समर्थन, बच गई कुर्सी

अखिलेश यादव के लिये खतरे की घंटी, सपा नेताओं ने किया भाजपा का समर्थन, बच गई कुर्सी

Akhilesh Tripathi | Publish: Jul, 13 2018 10:00:57 PM (IST) Kushinagar, Uttar Pradesh, India

पूर्व ब्लॉक प्रमुख गिरजेश जायसवाल ने सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगाया है।

कुशीनगर. सपा के कुछ नेताओं के सहयोग से दुदही ब्लॉक की भाजपा ब्लॉक प्रमुख कुसमावती देवी की कुर्सी बच गई । उनके खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव पास नहीं हो सका। कोरमपूर्ति के अभाव में न तो बैठक हुई न ही मतदान हुआ।

भाजपा की ब्लॉक प्रमुख कुसमावती देवी की जीत के पीछे समाजवादी पार्टी के कुछ नेताओं की भी भूमिका महत्वपूर्ण बतायी जा रही है। पत्रिका के पास मौजूद आडियो इस बात की पुष्टि भी कर रहा है। दूसरी ओर पूर्व ब्लॉक प्रमुख गिरजेश जायसवाल ने सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगाया है।

 

यह भी पढ़ें:

राजा भैया के पिता उदय प्रताप सिंह के इस सेवा भाव को आप भी करेंगे तारीफ, ऐसे करते हैं लोगों की मदद

 

बता दें कि पूर्व ब्लॉक प्रमुख गिरजेश जायसवाल की अगुआई में दुदही ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ लाये अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को चर्चा व मतदान होना था। परंतु 148 बीडीसी सदस्यों में केवल 64 सदस्य ही बैठक में उपस्थित थे। जबकि अविश्वास पर चर्चा व मतदान के लिए 75 सदस्यों की उपस्थिति सदन में नियमानुसार जरूरी थी। नतीजतन कोरमपूर्ति के अभाव में अविश्वास प्रस्ताव गिर गया और भाजपा प्रमुख कुसमावती देवी की कुर्सी सलामत रह गई।

भाजपा ब्लॉक प्रमुख की जिताने कुछ समाजवादी पार्टी के जिम्मेदार नेताओं की भूमिका भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। जानकार लोगों का कहना है कि सपा के इन नेताओं की मदद से ही कुसमावती देवी की जीत संभव हुई है। पत्रिका के पास मौजूद ऑडियो भी इस बात की पुष्टि कर रहा है कि सपा के एक जिम्मेदार नेता तक ने कुसमावती देवी के लिए वोट मांगा है।

दूसरी ओर अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले बीडीसी सदस्यों की अगुवाई करने करने वाले पूर्व ब्लॉक प्रमुख गिरजेश जायसवाल का आरोप है कि सत्ता का दुरुपयोग कर बीडीसी सदस्यों को सदन में आने ही नहीं दिया गया। जिला प्रशासन ने पत्रकारों को वीडियो तक नहीं बनाने दिया।

 

BY- A. K. MALL

Ad Block is Banned