कुशीनगर में मनबढ़ों ने एक परिवार पर 72 घंटे के अंदर दूसरी बार किया हमला, युवक की पीट- पीटकर हत्या

कुशीनगर में मनबढ़ों ने एक परिवार पर 72 घंटे के अंदर दूसरी बार किया हमला, युवक की पीट- पीटकर हत्या

Akhilesh Tripathi | Publish: Sep, 09 2018 09:24:11 PM (IST) Kushinagar, Uttar Pradesh, India

घटना में परिवार के पांच सदस्य घायल, स्थानीय पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठ रहा है।

कुशीनगर. रामकोला थाने के गांव पुरैनी में मनबढ़ों ने एक परिवार पर 72 घंटे के भीतर दूसरी बार हमला बोल दिया। पुलिस की लापरवाही से हुए दूसरी बार हमले में घायल युवक की बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में मौत हो गई है। इस हमले में घर की महिलाओं समेत सभी सदस्य घायल हो गए हैं। एक युवती के कमर की हड्डी टूट गई है। निर्मम पिटाई व युवती की कमर की हड्डी टूटने की सूचना स्थानीय थाने को देने के बावजूद भी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रही। इस घटना में स्थानीय पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठ रहा है।

ग्रामीणों ने स्थानीय पुलिस पर हमलावरों से मिली -भगत का आरोप लगाया है। मृतक युवक गोरखपुर में सब्जी बेचकर अपने परिवार के लिये दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करता था। इस परिवार के अधिकांश सदस्य घायल है और एक किशोरी की पिटाई से कमर की हड्डी टूट गई है, जिसका पैसे के अभाव के कारण इलाज नहीं हो रहा है। इस अमानवीय वारदात के पीछे चार ट्राली मिट्टी का दाम बताया जा रहा है।


मिली जानकारी के मुताबिक, रामकोला थाना क्षेत्र के पुरैनी गांव के छोटकी मुसहरी में शनिवार की सुबह एक जमीन पर गिराए गये मिट्टी के दाम को लेकर सगे पटीदारो ने एक परिवार पर दोबारा हमला बोल दिया। शनिवार की सुबह इस वारदात में हमलावरों ने पिंटू गिरी नामक युवक बुरी तरह से पिटाई कर दी। गंभीर रूप से घायल पिंटू को लेकर परिजन पहले थाने उसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामकोला पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसकी स्थिति गंभीर देख जिलाचिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। जिलाचिकित्सालय से पिंटू को गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। मेडिकल कॉलेज में शनिवार की रात इलाज के दौरान मौत हो गयी।

30 साल के पिंटू गिरी गोरखपुर में रहकर सब्जी बेचता बेचा करता था। शुक्रवार की रात पिंटू अपने घर आया था। इससे पहले गुरुवार को पिंटू पट्टीदारों ने उसके परिवार के लोगों पर हमला कर दिया था। हमले में पिंटू के पिता चंद्रभान गिरी , माता फुलपति गिरी, बहन नीलम गिरी, भाई महंती और पत्नी विढोतमा घायल हो गई थी। पिन्टू शनिवार की सुबह 6 बजे अपने घर से थोड़ी दूर पर स्थित घोठा पर गाय को चारा डालने गया, जहां आरोपियो ने उसको घेरकर बुरी तरह से पीट दिया। मृतक पिंटू के तीन बच्चे हैं, जिसमें बेटा सागर 9 साल,हिमांशु 7 साल और बेटी शिवानी 5 साल की है।

 

BY- A.K.MALL

Ad Block is Banned