सीडीओ के डर से एडीओ पंचायत ने फांसी लगाकर की आत्महत्य, देखें वीडियो

एडीओ पंचायत के पद पर तैनात रामचंद्र गौतम ने रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 06 Jan 2020, 11:28 AM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

लखीमपुर-खीरी. एडीओ पंचायत के पद पर तैनात रामचंद्र गौतम ने रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस को रामचंद्र द्वारा लिखा गया एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उन्होंने सीडीओ खीरी के डर को कारण बताते हुए आत्महत्या किए जाने की बात लिखी है। वहीं परिवार सीडीओ पर रामचंद्र को परेशान करने का आरोप लगा रहा है। मामले की सूचना पर पहुंचे डीएम खीरी शैलेंद्र कुमार सिंह ने दोषी के विरुद्ध कठोर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। जिसके बाद परिजन क्रिया कर्म के लिए तैयार हो गए।


जानकारी के अनुसार, नीमगांव थाना क्षेत्र के गांव गौहरपुर निवासी रामचंद्र गौतम (55) पुत्र रामाधीन वर्तमान में एडीओ पंचायत बेहजम के पद पर तैनात थे। रविवार कि सुबह उन्होंने अपने घर के कमरे में रस्सी का फंदा बनाकर खुद को फांसी लगा ली। घरवालों द्वारा जब घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थलीय निरीक्षण किया। जहां उन्हें रामचंद्र द्वारा छोड़ा गया एक सुसाइड नोट मिला। इस सुसाइड नोट में रामचंद्र ने लिखा है कि वे अपनी आत्मा को साक्षी मानकर आत्महत्या कर रहे हैं क्योंकि उनके अधीनस्थ कर्मचारी उनकी बात नहीं सुनते थे, यही कारण था कि उनका कार्य अन्य ब्लॉकों से पिछड़ गया था। जिसे लेकर सीडीओ खीरी द्वारा उन्हें डाटा भी गया था और इसी डर के कारण वे आत्महत्या कर रहे हैं। उन्होंने अपने सभी अभिलेखों का जिक्र करते हुए सुसाइड नोट में लिखा है कि कौन से अभिलेख किसके पास हैं और कौन से उनके पास रखे हैं। अंत में उन्होंने अपने घर के किसी भी सदस्य को परेशान ना करने की बात भी लिखी है। घटना से नाराज परिजनों ने उच्चाधिकारियों के आने तक शव का क्रियाकर्म नहीं किया था। दोपहर बाद जब डीएम खीरी शैलेंद्र कुमार सिंह मौके पर पहुंचे और उन्होंने परिवार को दोषी के खिलाफ कठोर कार्रवाई का आश्वासन दिया जिसके बाद परिवार अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुआ। पुलिस पूरे मामले में जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रही है। रामचंद्र के पुत्र संदीप द्वारा थाना नीमगांव में दी गई तहरीर में सीडीओ खीरी अरविंद सिंह व खंड विकास अधिकारी बेहजम धर्मेश चंद्र पांडे पर अपने पिता को धमकाने व जातिसूचक गालियां देने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

जो भी दोषी है उस पर दर्ज होगा मुकदमा- विधायक
एडीओ पंचायत रामचंद्र द्वारा आत्महत्या किए जाने के बाद जिस तरह जिले के एक बड़े अधिकारी पर परिवार आरोप लगा रहा है, उन्हें देखते हुए पुलिस मामले में किसी भी तरह की हिला हवाली न करें। इसीलिए कस्ता से भाजपा विधायक सौरभ सिंह सोनू भी घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने परिवार को आश्वासन दिलाया कि जो भी मामले में दोषी पाया जाएगा उस पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने स्वयं मामले में उच्चाधिकारियों से बात करने की बात भी कही है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned