जल संरक्षण करके जीवन खुशहाल बनाएं: अजय मिश्र टेनी

जल संरक्षण करके जीवन खुशहाल बनाएं: अजय मिश्र टेनी

Karishma Lalwani | Updated: 14 Jul 2019, 07:13:42 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

MP Ajay Mishra Teni ने जल संरक्षण की कही बात

लखीमपुर खीरी. विकास खण्ड लखीमपुर की ग्राम पंचायत राजापुर में जल संरक्षण और वर्षा जल संरक्षण के सम्बन्ध में वृहद अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ सांसद अजय मिश्र टेनी ने विधायक सदर योगेश वर्मा, जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी रवि रंजन की उपस्थिति में किया।

जल संरक्षण की आवश्यकता है

ग्राम पंचायत राजापुर में जल संचयन के लिए बनाए जा रहे तालाब की सांसद अजय मिश्र टेनी, विधायक सदर योगेश वर्मा, डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह, सीडीओ रवि रंजन, एसडीएम सदर डाॅ. अरुण कुमार सिंह, डीसी मनरेगा राजनाथ भगत एवं खण्ड विकास अधिकारी संतोष कुमार सिंह ने फावड़े से खुदाई कर श्रमदान किया। इस अवसर पर सांसद अजय मिश्र ‘टेनी’ ने कहा कि जल संरक्षण की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अगर हम लोग अभी भी नहीं चेते तो धीरे-धीरे पानी का सतह नीचे गिरने के साथ ही पेड़, पौधों के साथ-साथ लोगों को भी पानी के लिए तरसना पड़ेगा। जल संरक्षण से लोगों को आसानी से पेयजल एवं सिंचाई सुविधाएं मुहैया होगी तथा भूगर्भ के जलस्तर को रोकने में मदद मिलेगी। इसलिए लोगों को संकल्पबद्ध होकर इस वर्षा ऋतु में ही अधिकाधिक जल संरक्षण करना नितान्त आवश्यक है। जल संरक्षण से ही जीवन को खुशहाल बनाया जा सकता है।

उन्होंने लोगों से अनुरोध किया कि स्वच्छता अभियान में व्यापक हिस्सेदारी करके इसे एक सफल जन आंदोलन बना दिया गया है। इसी प्रकार जल संचयन को भी एक जन आन्दोलन का स्वरूप देना है, जिससे हम अपनी वर्तमान पीढ़ी के साथ-साथ आने वाली पीढ़ी को भी आवश्यक जल उपलब्ध करा सकें। विकास खण्ड लखीमपुर की ग्राम पंचायत राजापुर में जल संचयन अभियान के तहत जनप्रतिधियों और अधिकारियों ने श्रमदान कर लोगों को जल संरक्षण हेतु प्रेरित किया। वहीं मुख्य विकास अधिकारी रवि रंजन ने ग्रामवसियों को जागरुक करने के साथ ही जल संरक्षण के लिए देश के प्रधानमंत्री द्वारा संरपचों को सम्बोधित संदेश पढ़कर ग्राम वासियों को सुनाया।

डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि गांव के विकास के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री प्रतिबद्ध है और इसके लिए धन की कोई कमी नहीं है। उन्होनें गांव में भू-जल स्तर में सुधार एवं निकट भविष्य में जलापूर्ति, भूजल स्तर को ऊपर उठाने एवं वर्षा जल संचयन पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होनें कहा कि ग्रामीण स्तर पर हम सब मिलकर जल की हर एक बूंद का संचयन कर अपने परिवेश को और परिष्कृत बनाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned