Lakhimpur Khiri News: खीरी हुआ छावनी में तब्दील, विपक्षों दलों को मृतकों के परिवार से मिलने की इजाजत मिली

Lakhimpur Khiri news. लखीमपुर मामले मृत किसानों के परिवार से मिलने के लिए विपक्षी दलों को आखिरकार बुधवार को इजाजत दे दी गई।

By: Abhishek Gupta

Published: 06 Oct 2021, 04:33 PM IST

लखीमपुर-खीरी. Lakhimpur Khiri news. लखीमपुर मामले में सियासत जोर पकड़ती नजर आ रही है। मृत किसानों के परिवार से मिलने के लिए विपक्षी दलों को आखिरकार बुधवार को इजाजत दे दी गई। इसे देखते हुए पूरे लखीमपुर खीरी जिले को छावनी में तब्दील कर दिया गया। सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त कर दिए गए हैं। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के लखनऊ आगमन पर काफी गरमा गर्मी देखने को मिली। वह एयरपोर्ट पर धरने पर भी बैठे, लेकिन अंत में उन्हें भी लखीमपुर जाने की इजाजत दे दी गई। राहुल गांधी के साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भी लखनऊ पहुंचे हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा से सतीश चंद्र मिश्र, आप सांसद संजय सिंह समेत कई नेता परिवार से मिलने पहुंचने लगे। वहीं भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन करने जा रहे हैं।

राहुल एयरपोर्ट पर बैठे धरने पर-
राहुल गांधी को पहले दिल्ली एयरपोर्ट पर रोका गया। हालांकि काफी रस्साकशी के बाद उन्हें अनुमति दे दी गई। इससे पहले उन्होंने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि हमें बाहर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। हम अपनी गाड़ियों तक नहीं जा सकते। बाद में राहुल को लखीमपुर के लिए रवाना हो गए।

ये भी पढ़ें- लखीमपुर खीरी जा रहे सचिन पायलट के काफिले को गाजीपुर बॉर्डर पर रोका, सिर्फ 4 लोगों को मिली अनुमति

पंजाब व छत्तीसगढ़ के सीएम ने मुआवजे का किया ऐलान-
राहुल गांधी के साथ मौजूद पंजाब व छत्तीसगढ़ से के मुख्यमंत्रियों ने मृतकों के परिजनों को 50-50 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की। वहीं प्रियंका गांधी की हिरासत के विरोध में कांग्रेसियों ने प्रदेश के कई जिलों में धरना दिया व कहीं-कहीं मौन धारण कर प्रदर्शन किया। इन सबके जवाब में भाजपा ने कांग्रेस पर तीखा हमला किया है। भाजपा प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस के समय में सिख दंगे हुए थे। लखीमपुर मामले में किसानों और सरकार में समझौता हो गया है। कांग्रेस अब केवल हिंसा करवाना चाहती है।

प्रियंका की रिहाई के लिए विरोध प्रदर्शन-
सोमवार से सीतापुर की अस्थाई जेल में बंद प्रियंका गांधी की रिहाई के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कई जिलों में धरना प्रदर्शन किया। मेरठ में कांग्रेस कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने अपनी गिरफ्तारी भी दी। सहारनपुर व बिजनौर में भी कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी की रिहाई की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया।

ये भी पढ़ें- लखीमपुर हिंसा में मारे गये किसानों के मृतक आश्रितों को मिलेंगे 1.45 करोड़ रुपए, मृतक पत्रकार के परिजनों को भी आर्थिक मदद

अजय मिश्र टेनी पहुंचे दिल्ली-
लखीमपुर कांड के बाद केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता अजय मिश्र बुधवार दोपहर दिल्ली पहुंचे, हालांकि उन्होंने इससे साफ इंकार किया की पार्टी हाइकमान ने उन्हें तलब किया है। वह निजी काम से दिल्ली पहुंचे हैं। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि गाड़ी में मेरा बेटा नहीं था। कार पर हमला करने पर चालक घायल हो गया, जिससे उसने अपना संतुलन खो दिया और कार वहां मौजूद कुछ लोगों पर चढ़ गई। उन्होंने कहा कि मृतकों के प्रति उन्होंने संवेदना व्यक्त की है। मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned