रेप पीड़िता पहुंची थाने, पुलिस वारदात होने से कर रही इंकार

रेप पीड़िता पहुंची थाने, पुलिस वारदात होने से कर रही इंकार

Abhishek Gupta | Publish: Sep, 11 2018 08:47:52 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

एएसपी ने लड़की को मेडिकल के लिए भेजा, दुष्कर्म के मामले को नकार रही नीमगांव पुलिस.

लखीमपुर-खीरी. नीमगांव थाना क्षेत्र में साथियों की मदद से एक युवक ने नाबालिग लड़की को दुष्कर्म का शिकार बना डाला। परिजन जब बेटी को लेकर थाने पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें भगा दिया। पीड़ित पक्ष एसपी आफिस पहुंचे वहां एएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए लड़की को मेडिकल के लिए भिजवाया। पुलिस दुष्कर्म के आरोप को नकार रही है। वह मारपीट का मामला बता रही है।

ये भी पढ़ें- शिवपाल के ऐलान के बाद अखिलेश यादव ने 2019 व 2022 चुनाव पर की बड़ी घोषणा, सपाई में खुशी की लहर

नीमगांव थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी लड़की ने बताया कि सोमवार की सुबह वह खेत से चारे के लिए पाती तोडऩे गई थी। वह पाती लेकर वापस आ ही रही थी तो रास्ते में एक पेड़ के नीचे बैठ गई। तभी गांव के ही निवासी तौले, सोहन और सुरेंद्र वहां आये और जबरन उसे पकड़ कर पास के ही गन्ने के खेत में ले गए। वहां सुरेंद्र ने उसे पकड़ लिया और सोहन ने दुष्कर्म किया। तौले वहीं पर खड़े होकर यह सब देख रहा था। तभी उधर से गांव की एक लड़की निकली। चिल्लाने की आवाज सुनी तो उसने पीड़िक लड़की के घर जा कर उसके परिजनों को बताया।

ये भी पढ़ें- जब video conferencing के दौरान इस महिला का नाम सुन और काले लड्डू देख पीएम मोदी हुए हैरान, पूछ डाले बड़े सवाल

जब परिजन मौके पर पहुंचे तो तीनों वहां से भाग गए। पीड़ित परिजन लड़की को लेकर थाने पहुंचे। लेकिन पुलिस ने उसे भगा दिया। सोमवार को परिजन फरियाद लेकर एसपी आफिस आए। एसपी के न होने पर एएसपी ने फरियाद सुनीं। मामले को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने लड़की का मेडिकल कराने के आदेश दिए। इस पर नीमगांव पुलिस ने लड़की को मेडिकल के लिए भिजवाया। उधर पुलिस दुष्कर्म के मामले को नकार रही है। पुलिस ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच आपसी विवाद का मामला है।

Ad Block is Banned