बारिश का पानी घरों और दुकानों में भरने से हुए नुकसान की भरपाई के लिए जिला प्रशासन से लगाई गुहार

बीते दिनों यूपी में हुई जोरदार बारिश का पानी सड़कों और नालियों से निकासी ना होने की वजह से मोहल्ले के कई घरों और दुकानों में भर गया, जिस कारण लोगों का काफी नुकसान हो गया

By: Karishma Lalwani

Published: 22 Jul 2020, 10:15 AM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

ललितपुर. बीते दिनों यूपी में हुई जोरदार बारिश का पानी सड़कों और नालियों से निकासी ना होने की वजह से मोहल्ले के कई घरों और दुकानों में भर गया, जिस कारण लोगों का काफी नुकसान हो गया। जिस के संबंध में स्थानीय लोगों ने जिला प्रशासन को ज्ञापन देकर मामले में तत्काल कड़ी कानूनी कार्यवाही करने एवं नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देने की मांग उठाई।

विगत रात्रि हुई मौसम की पहली जोरदार बरसात ने जहां एक ओर किसानों के चेहरों पर खुशी ला दी, तो वहीं दूसरी ओर यह भारी बरसात शहर वासियों के लिए मुसीबत बनकर खड़ी हो गई। भीषण गर्मी में सुख की फसलों के लिए बारिश का पानी वरदान बना दो शहर वासियों के लिए यही भारी बरसात अभिशाप बनकर उस समय सामने आई जब बरसात का पानी नगर पालिका की लापरवाही की वजह से शहर की सड़कों के साथ साथ घरों में भी भर गया। सोमवार को देर रात तक हुई मौसम की पहली भारी बरसात ने नगर पालिका के उन सफाई कार्यों की पोल खोल कर रख दी जिन पर पालिका ने बरसात सुरु होने से पहले लाखों रुपए खर्च किए। नगर पालिका ने शहर के नालों और नालियों की सफाई करवाई लेकिन यह सफाई उस समय मुसीबत बन गई जब भारी बरसात के कारण नालियों से पानी नहीं निकल सका और सड़कों सड़कों पर भर गया। शहर की सड़कें तालाब में तब्दील हो गईं। इसके साथ ही सड़कों पर पानी भरने से पीडब्ल्यूडी विभाग की भी पोल खुल गई जो दावा करती है कि वह अच्छी सड़कें बनाती है। लेकिन सड़कों में गड्ढे होने की वजह से वाहनों को निकलने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर खानापूर्ति चल रही है तो वहीं जिला प्रशासन भी मौन साधे हुए हैं। जागरूक लोगों की शिकायत के बावजूद नगरपालिका प्रबंधन के खिलाफ जिला प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही अमल में नहीं लाई गई जबकि लाखों रुपया नगर पालिका की तरफ से नगर की नालियों की सफाई व्यवथा पर खर्च कागजों में दर्शाया जा रहा है और धरातलीय स्थिति इसके विपरीत है। शहर की मुख्य नालियों की सफाई ना होने की वजह से नालियां गंदगी से बजबजा रही हैं जिनमें से पानी की निकासी हो पाना बहुत ही मुश्किल है । यही सबसे बड़ा कारण है बरसात के पानी की निकासी ना हो पाने की वजह से वह सड़कों पर भर जाता है और अत्यधिक वर्षा होने की वजह से लोगों के घरों में भी घुस जाता है। शहर में यह हालात रामनगर बंसीपुरा मऊठाना नदीपुरा तालाबपुरा के साथ साथ कैलागुआं चौराहे मवेसी बाजार नेहरू नगर और कई मुहल्लों के है जहां नालियों से पानी की निकासी न होने से सड़कों पर बरसात का पानी भर जाता है, जिससे शहर वासियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

सबसे ज्यादा हालात तो मवेशी बाजार की खराब है। जहां ना तो पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा अच्छी सड़क बनाई गई है और ना ही नगर पालिका द्वारा नालियों की सफाई करवाई जाती है। जिससे बरसात का पानी सड़कों पर भर जाता है जिससे आने जाने वाली लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यहीं वो इलाका है जहां पर दोपहिया चार पहिया और कई बड़े वाहन सुधारे जाते हैं और यहीं से हाईवे के लिए रास्ता भी जाता है लेकिन यहां पानी भरे होने के कारण वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned