सहायक विकास अधिकारी ने लौटाई रिश्वत, सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा वीडियो

सोशल मीडिया पर समाज कल्याण विभाग के सहायक विकास अधिकारी द्वारा ली गई रिश्वत को जबरन लौटाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

By: Neeraj Patel

Published: 03 Jan 2020, 03:36 PM IST

ललितपुर. आपने अभी तक किसी भी कार्य हेतु किसी भी अधिकारी या सरकारी कर्मचारी का रिश्वत लेने का वीडियो वायरल होते हुए जरूर देखा होगा, लेकिन सोशल मीडिया पर समाज कल्याण विभाग के सहायक विकास अधिकारी द्वारा ली गई रिश्वत को जबरन लौटाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसने जिले भर में जबरदस्त धूम मचा दी है और यह मामला जनपद में खासा चर्चित हो गया है।

जानें क्या है पूरा मामला

मामला तहसील तालबेहट के ग्राम पवा के मजरा कसर से जुड़ा हुआ है। जहां के निवासी हरिराम कुशवाहा ने अपनी बहन की शादी 15 जून 2019 को की थी और उसने अपनी बहन राधिका की शादी के लिए समाज कल्याण विभाग से अनुदान लेने के लिए तालबेहट ब्लॉक में 07 सितम्बर 2019 को जमा किया था। जिसके बाद उक्त आवेदन पर 30 दिन के अंदर सहायक विकास अधिकारी शियाराम यादव को अपनी संस्तुति रिपोर्ट लगानी होती है।

समाज कल्याण विभाग तालबेहट की सहायक विकास अधिकारी सियाराम यादव ने सुविधा शुल्क की मांग की और जब पैसे नहीं दिए गए तो उन्होंने अपनी रिपोर्ट नहीं लगाई। इस बात की जानकारी जब लड़की के पिता को हुई तो उसने कहीं से 1000 रुपए उधार लेकर सहायक विकास अधिकारी सियाराम यादव को बतौर रिश्वत दे दी और सहायक विकास अधिकारी ने समय निकलने के बाद उस फार्म पर रिपोर्ट लगाई जिससे वह फार्म निरस्त हो गया। फार्म निरस्तीकरण की जब उसे जानकारी हुई तो उसने एक शिकायती पत्र देकर जिला अधिकारी योगेश कुमार शुक्ल से इस मामले में न्याय की गुहार लगाई।

रास्ते में ही लौटाई ली हुई रिश्वत

शिकायती पत्र देने के बाद जिला अधिकारी द्वारा मामले को संज्ञान में लिया गया और उक्त पूरे मामले की जांच करने के निर्देश दिए। रिश्वत कांड की जांच का दबाव पड़ने के बाद सहायक विकास अधिकारी रिश्वत के पैसे वापस करने के लिए जब लाभार्थी के घर जा रहे थे तो वह उन्हें रास्ते में मिल गया तो उन्होंने उसे रास्ते में रोककर जबरन रिश्वत में लिए गए 1000 रुपए वापस किए और दौड़ कर बाइक पर बैठकर भाग गए। रास्ते में रिश्वत वापस करते समय किसी ने उनका वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जो सोशल मीडिया पर जबरदस्त धूम मचा रहा है एवं मामला बहु चर्चित हो गया है। इस मामले में पीड़ित हरिराम कुशवाहा ने बताया कि सहायक विकास अधिकारी जबरन रिश्वत के पैसे वापस कर गए और लगातार इस मामले में राजीनामा करने का दवाब बनाकर धमकियां दे रहे हैं।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned