सतरवास बवाल कांड में 33 ग्रामीणों पर पुलिस ने की कार्यवाही

सतरवास बवाल कांड में 33 ग्रामीणों पर पुलिस ने की कार्यवाही

Abhishek Gupta | Publish: Apr, 17 2018 09:16:34 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

गांव के ही एक व्यक्ति की तहरीर पर पुलिस ने किया मामला दर्ज, सोशल मीडिया पर सवर्णों की बहू वेटियों के खिलाफ डाली गई पोस्ट से मचा था बवाल.

ललितपुर. सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सतरवास निवासी बलवीर पुत्र लटोरा चमार ने पुलिस को एक तहरीर देकर अवगत कराया कि उसी गांव के विक्रम पुत्र राजपाल लाखन पुत्र राजपाल रोहित पुत्र लल्लू शिशुपाल पुत्र फेरन तूफान पुत्र कमल आदि के साथ गांव के ही 28 अज्ञात व्यक्तियों ने मिलकर उसके साथ घर में बंद कर गाली गलोच कर मारपीट की तथा जान से मारने की धमकी भी दी। इस मारपीट में उसे गंभीर चोट पहुंचाने की कोशिश की गई जिसके चलते वह घटनास्थल पर ही बेहोश हो गया था। कोतवाली पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेकर 147, 148, 323, 504, 506, 308, 342, 452, 34 आईपीसी तथा 3/2/5 का एससी एसटी एक्ट में मामला पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।

यह है पूरा मामला :-

ग्राम सतरवास में उस समय हड़कंप मच गया था जब लगभग 30 से 40 युवक अपने हाथों में लाठी कुल्हाड़ी आदि लेकर हरिजन बस्ती में शोर मचाते हुए घुस गए थे और वहां पर उपस्थित हरिजन पुरुषों एवं महिलाओं के साथ अभद्रता कर मारपीट की एवं घरों के बाहर लिखे हुए जय भीम जय भवानी आदि नारों पर कालिख पोतना शुरू कर दी थी और वहां पर लगे अम्बेडकर के फोटो व पोस्टर बैनरों को फाड़ दिया था।

किसी की समझ में कुछ नहीं आया कि माजरा क्या है बस गांव में भगदड़ मच गई थी जैसे ही इस बात की सूचना सदर कोतवाली पुलिस को मिली वैसे ही क्षेत्राधिकारी हिमांशु गौरव सदर एसडीएम महेश चंद्र दीक्षित काफी पुलिस बल के साथ गांव में पहुंच गए थे पुलिस को देख कर गांव में बिगड़ा सांप्रदायिक माहौल थोड़ा बहुत शांत हुआ और पुलिस को देखकर हमलावारों सवार युवक भाग खड़े हुए ।

पूछताछ के दौरान पता चला कि गांव के एक हरिजन युवक बलवीर की आईडी से फेसबुक पर सवर्णों के खिलाफ एक पोस्ट डाली थी जिसमें लिखा था कि हरिजन और सवर्णों में समानता तब आएगी जब वह अपनी बेटियों की शादी हरिजन युवकों से करेंगे और हरिजन की बेटियों की शादी अपने लड़को से करेंगे और जब यह पोस्ट गांव के अन्य लोगों द्वारा पढ़ी गई तब यह बवाल हो गया था। बबाली युवकों ने हरिजन बस्ती में बने मकानों पर लिखा 'जय भीम जय भवानी' के नारों पर भी कालिख पोत कर उन्हें मिटाने का प्रयास किया जिससे गांव में साम्प्रदायिकता की स्थित उतपन्न हो गई । हालांकि गाँव में स्तिथि तनावपूर्ण है। हरिजन ग्रामीणों का आरोप है कि गांव के स्वर्ण ठाकुर ब्राह्मण आदि जाति के युवकों ने 24 घण्टे में गांव छोड़ने की धमकी भी दी है जिससे गांव वाले हरिजन परिवार डरे हुए हैं।

Ad Block is Banned