नदी किनारे मगरमच्छ ने चरवाहे को बनाया अपना शिकार, बकरियां चरा रहा था चरवाहा

नदी किनारे मगरमच्छ ने चरवाहे को बनाया अपना शिकार,  बकरियां चरा रहा था चरवाहा

Neeraj Patel | Updated: 23 Apr 2019, 11:07:22 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बेतवा नदी किनारे बकरिया चरा रहे एक चरवाहे को मगरमच्छ ने अपना शिकार बना लिया।

ललितपुर. कोतवाली तालबेहट क्षेत्र के अंतर्गत बेतवा नदी में लगातार पानी कम होने के चलते खतरनाक मगरमच्छ आए दिन सडक़ पर आकर कभी वाहनों से वेमौत मर रहे है वहीं मंगलवार को झरर घाट बेतवा नदी किनारे बकरिया चरा रहे एक चरवाहे को मगरमच्छ ने अपना शिकार बना लिया। प्रत्यक्ष दर्शियों की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने चरवाहे के शव को काफी देर तक बचाने का प्रयास किया मगर मगरमच्छ को काफी दूर गहरे में खींच ले गया। जिससे समाचार लिखे जाने तक चरवाहे का शव पुलिस बरामद नहीं कर सकी।

प्राप्त जानकारी अनुसार कड़ेसराकलां के मजरा हनौता के समीप रहने वाला भगवानदास पाल उम्र 70 वर्ष पुत्र स्व0 लक्ष्मण पाल बकरियां चराने हेतू बेतवा नदी के किनारे गया हुआ था। तभी दोपहर 3 बजे के करीब को जब वह नदी किनारे पेड़ बकरियां चरा रहा था। तभी नदी से आए एक विशालकाय मगरमच्छ ने उस पर हमला बोलते हुए उसे दांतों से दबा कर नदी की ओर खींच ले गया। वृद्ध के चीखने चिल्लाने की आवाज पर आसपास जानवर चरा रहे चरवाहे दौड़े मगर मगरमच्छ उसे पानी में काफी दूर ले गया।

सूचना के बाद मौके पर कोतवाल उदयभान गौतम व वनकर्मी मौके पर पहुंचे तथा ग्रामीणों की मदद से नदी में वृद्ध को मुंह में दबाए मगरमच्छ पर पत्थरों से प्रहार कर छुड़ाने का प्रयास किया मगर काफी मश्क्कत के बाद भी मगरमच्छ से वृद्ध को नहीं छुड़ा पाए और आखिरकार मगरमच्छ ने वृद्ध चरवाहे का शिकार कर लिया।

सूचना पर कोतवाली तालबेहट पुलिस मौके पर पहुंची और शव को ढूंढने की प्रयास किए जा रहे है। हालांकि समाचार लिखे जाने तक चरवाहे का शव पुलिस बरामद नहीं कर सकी थी। इस खबर से चरवाहे की परिवार में कोहराम की स्थिति उत्पन्न हो गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned