चौपाल लगाकर सुनी गई ग्रमीणों की समस्याएं, अधिकारियों के कसे गए पेंच

Mahendra Pratap

Publish: Dec, 08 2017 11:44:58 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
चौपाल लगाकर सुनी गई ग्रमीणों की समस्याएं, अधिकारियों के कसे गए पेंच

जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने शीतकालीन भ्रमण पर गांव में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की सभी समस्याओं की जानकारी हासिल की।

ललितपुर. जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह अपने शीतकालीन भ्रमण पर जब भी निकलते हैं किसी न किसी गांव में चौपाल लगा लेते हैं। वह चौपाल लगाकर ग्रामीणों से रुबरु होते हैं एवं गांव में शिकायतों के आधार पर निरीक्षण के दौरान अधिकारियों और कर्मचारियों यहां तक कि ग्राम प्रधान पर कार्रवाई करने से भी नहीं चूकते जिससे जनपद का विकास लगातार होता रहे। जिलाधिकारी ने शीतकालीन भ्रमण के दौरान ग्राम गदयाना स्याद्वाद इण्टर कॉलेज गदयाना में संध्याकालीन जन चौपाल का आयोजन किया।

योजनाओं का कराया मौखिक सत्यापन

चौपाल के दौरान जिलाधिकारी ने उपस्थित ग्रामवासियों से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली एवं प्रत्येक विभाग द्वारा ग्राम में कराए गए विकास कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान चौपाल में उपस्थित ग्राम वासियों के मध्य विभिन्न प्रकार की पेंशन योजनाओं जैसे विकलांग पेंशन, विधवा पेंशन, वृद्धावस्था पेंशन तथा राशनकार्डों एवं ग्राम में कराए गए विकास कार्यों का मौखिक सत्यापन भी कराया गया।

बिलो की विसंगति को दूर करने के दिए निर्देश

विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान अधिशाषी अभियंता विद्युत द्वारा जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि ग्राम पंचायत गदयाना में कुल 09 ट्रांसफार्मर लगे हुए हैं जो चालू हालत में हैं। ग्रामवासियों ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि ग्राम में शाम के समय कभी भी बिजली नहीं आती, इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने अधिशाषी अभियंता को विद्युत व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए। चौपाल में उपस्थित कुछ ग्राम वासियों ने जिलाधिकारी से शिकायत की कि उनका तीन माह का बिल 4500 रूपए आया है जबकि उनकी खपत मात्र 05 बल्ब की है। साथ ही ग्रामवासियों ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि ग्राम पंचायत गदयाना के दो मजरो में अभी भी विद्युतीकरण नहीं हुआ है। इस पर जिलाधिकारी ने एक्सईएन को निर्देश दिए कि एक माह के भीतर सर्वे कर कर उक्त मजरोें को ऊर्जीकृत किया जाए तथा बिलो में जो विसंगति है उसे दूर किया जाए।

मनरेगा के कार्यों पर जताई नाराजगी

मनरेगा की समीक्षा के दौरान उपायुक्त मनरेगा द्वारा बताया गया कि ग्राम में 824 जॉबकार्ड धारक हैं। वित्तीय वर्ष 2017-18 में नवम्बर माह तक का कुल लेबर बजट 14 लाख रूपए है जिसमें से 3.5 लाख रूपए खर्च किए जा चुके हैं। मनरेगा में कम धनराशि खर्च करने पर जिलाधिकारी महोदय ने डीसी मनरेगा पर नाराजगी व्यक्त की। गांव के हैण्डपम्पों की समीक्षा के द्वारा जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम में कुल 60 हैण्डपम्प स्थापित हैं तथा सभी हैण्ड पम्प चालू हालत में हैं। ग्राम वासियों ने जिलाधिकारी को बताया कि कुछ हैण्डपम्पों से कम पानी आता है, जिस पर जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधान तथा जल निगम के अधिकारियों को उन हैण्डपम्पों को रीबोर करने के निर्देश दिए।

शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने के दिए निर्देश

चिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रताप सिंह ने अपने विभागीय योजनाओं की जानकारी उपस्थित ग्राम वासियों को दी। जिलाधिकारी ने एएनएम एवं आशा को बुलाकर ग्राम में उनके द्वारा किए जाने वाले कार्यों की जानकारी ली, जिस पर बताया गया कि ग्राम में एक मात्र एएनएम उर्मिला मसीह तथा चार आशाएं कपूरी अहिरवार, मोहनी सोनी, रेखा अहिरवार तथा दीप्ति सोनी एएनएम सेन्टर पर तैनात हैं। मौके पर पाया गया कि मिशन इन्द्रधनुष के तहत ग्राम के 08 बच्चे टीकाकरण से वंचित थे। इस पर उन्होंने ग्राम प्रधान से टीकाकरण न किए जाने का कारण पूछा तथा उप जिलाधिकारी तालबेहट को ग्राम में शत-प्रतिशत टीकाकरण कराए जाने के निर्देश दिए।

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को लगाई कड़ी फटकार

बाल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि ग्राम गदयाना में लाल श्रेणी में कुल 36 कुपोषित बच्चें हैं, इस पर उन्होंने ग्राम गदयाना आंगनबाड़ी केन्द्र पर तैनात कार्यकत्रियों विमला जैन, संध्या जैन तथा देवेन्द्रा सोनी एवं सहायिक लक्ष्मी देवी, रामवती तथा भागवती को कड़ी फटकार लगाई तथा सभी बच्चों को पीली श्रेणी में लाने के निर्देश दिए। ग्राम गदयाना में चार प्राथमिक विद्यालय हैं।

चौपाल में सभी अधिकारी व कर्मचारी रहे उपस्थित

बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि सभी बच्चों को ड्रेस, पाठ्य पुस्तकों, बैग एवं जूते-मौजे का वितरण कर दिया गया है। विद्यालयों में नियमित तौर पर मिड्डे मील पकाया जाता है एवं उसका वितरण बच्चों में किया जाता है। चौपाल के बाद जिलाधिकारी महोदय ने ग्राम गदयाना में निर्माणाधीन शौचालयों, आवासों एवं ग्राम में स्थापित हैण्डपम्पों का निरीक्षण किया तथा निर्माणाधीन कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिए। चौपाल में सभी सम्बंधित अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned