शर्मसार...पांच दिनों से सड़ रही है जिला चिकित्सालय की मर्चूरी में यह लाश

शर्मसार...पांच दिनों से सड़ रही है जिला चिकित्सालय की मर्चूरी में यह लाश
Lalitpur District Hospital

Shatrudhan Gupta | Updated: 11 Dec 2017, 06:34:41 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य बजट पर करोड़ों रुपए खर्च किए जाने के बावजूद चिकित्सा व्यवस्था जहां की तहां है।

ललितपुर. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य बजट पर करोड़ों रुपए खर्च किए जाने के बावजूद चिकित्सा व्यवस्था जहां की तहां है। दरअसल, उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिला अस्पताल में मानवता एक बार फिर शर्मसार हो गई। जिला चिकित्सालय की मर्चूरी में पिछले पांच दिनों से एक अज्ञात व्यक्ति की लाश सड़ रही है। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि लाश जिला चिकित्सालय की मर्चूरी में रखी हुई है, लेकिन सरकारी रिकॉर्ड में कहीं भी यह नहीं दर्शाया जा रहा है कि एक लाश जिला चिकित्सालय के मर्चूरी में रखी हुई है।

यह भी पढ़ें.. अखिलेश यादव ने कई बड़े नेताओं को पार्टी से किया निलंबित, कई और होंगे बाहर, देखें सूची...

जिला अस्पताल प्रशासन नहीं ले रहा सुध

पिछले पांच दिनों में कई लाशें मर्चूरी में रखी गईं। उन का पंचनामा भी हुआ, फिर पोस्ट मार्टम भी हुआ, लेकिन इस लाश के बारे में जिला अस्पताल प्रशासन ने कोई सुध नहीं ली, जबकि 108 एम्बुलेंस से सदर कोतवाली क्षेत्र से उक्त शव लाया गया था। सूत्र बताते हैं कि जिला चिकित्सालय के अधीक्षक डॉक्टर एसके बासवानी जो अपना आवास झांसी में बनाए हुए हैं, इसलिए वह अस्पताल को बहुत कम समय दे पाते हैं। वह जिला चिकित्सालय में आते भी हैं तो उन्हें झांसी भागने की जल्दी रहती है।

यह भी पढ़ें.. राम जन्मभूमि परिसर में तैनात सिपाही ने किया आत्महत्या, मचा हड़कंप

पांच दिन से मर्चूरी में रखा है शव

अज्ञात लाश का जिला मुख्यालय पर स्थित जिला चिकित्सालय की मर्चूरी में पांच दिन तक सडऩा यह मानवता के मुंह पर करारा तमाचा है। क्या जिला प्रशासन इसकी जांच कराकर दोषी अधिकारी और कर्मचारी के खिलाफ कड़ा कदम उठाएगी, यह देखने वाली बात होगी।

दोषियों पर होगी कड़ी से कड़ी कार्रवाई

इस मामले में जब मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर प्रताप सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह मामला मेरे संज्ञान में आया है। मामले की पूरी निष्पक्ष तरीके से जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned