गश्त और चेकिंग अभियान में जीआरपी के हत्थे चढ़े 4 शातिर बदमाश

- तलाशी के दौरान तीन मोबाइल और 10 हजार रुपये से अधिक बरामद लंबे समय से ट्रेनों में यात्रियों को बना रहे थे निशाना.

By: Abhishek Gupta

Published: 07 Mar 2020, 10:55 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

ललितपुर. अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए उच्च अधिकारियों के निर्देशन में जीआरपी पुलिस द्वारा जब रेल्बे स्टेशन पर चेकिंग और अगस्त अभियान चलाया जा रहा था तभी जीआरपी पुलिस के हत्थे चार ऐसे शातिर बदमाश चढ़े जो ट्रेन में यात्रा कर रहे या फिर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रहे यात्रियों को चालाकी से अपना शिकार बना कर उनके मोबाइल एवं नगदी चुरा लेते थे।

मामले का खुलासा करते हुए जीआरपी कोतवाली प्रभारी अरविंद कुमार सरोज ने बताया कि उक्त पकड़े गए चारों बदमाश बहुत ही शातिर किस्म की अपराधी हैं जिनका खासा आपराधिक रिकॉर्ड भी है । वह काफी लंबे समय से रेलवे स्टेशन पर य फिर ट्रेन में यात्रा कर रहे यात्रियों को अपनी बातों में उलझा कर उनसे नकदी व मोबाइल चोरी कर लेते थे। उन्होंने बताया कि जब जीआरपी की टीम स्थानीय रेल्बे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 2/3 पर चेकिंग अभियान चला रही थी तभी प्लेटफार्म नंबर 2 के निकट शौचालय के पास चार संदिग्ध लोग बैठे हुए दिखाई दिए जो पुलिस को आता देख घबरा गए। उनकी घबराहट देखकर शक पुलिस ने उन्हें पकड़ कर जब पूछताछ की तब पता चला कि वह चारों शातिर किस्म के चोर हैं जो ट्रेनों में आने जाने बाले यात्रियों को अपना निशाना बनाते थे । तलाशी के दौरान उनके पास से 3 महंगे मोबाइल फोन व 11150 रुपयों की नगदी बरामद की गई। पकड़े गए लोगों ने अपना नाम पवन सोनी उर्फ दीपू सेठ पुत्र जय नारायण स्वामी जितेंद्र उर्फ जीतू चौरसिया पुत्र ओम प्रकाश चौरसिया विनय कुमार सोनी उर्फ़ अभय उर्फ रामकली पुत्र रमेश चंद्र सोनी तथा जय किशन वर्मा पुत्र रामप्रकाश वर्मा सभी निवासी कानपुर के बताए गए हैं। जिसमें जितेंद्र उर्फ जीतू पर 20 से अधिक विनय कुमार सोनी पर एक दर्जन से अधिक चोरी और लूट के मामले अलग-अलग थाना क्षेत्रों में दर्ज है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned