दो साल की बच्ची को छोड़ आर्थिक तंगी से परेशान दम्पत्ति ने फांसी लगा की आत्महत्या

-आत्महत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा
-आत्महत्या की जांच में जुटी पुलिस

By: Mahendra Pratap

Published: 17 Nov 2020, 02:25 PM IST

ललितपुर. अपनी दो साल की मासूम बच्ची को छोड़कर बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से परेशान दम्पत्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। साड़ी के फंदे के सहारे अपने घर में म्याहरी पर दोनों के शव लटके मिले। आत्महत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भिजवा दिया और आत्महत्या की जांच में जुट गई है।

बच्ची को अनाथ छोड़ गए :- मामला कोतवाली तालबेहट के ग्राम खांदी के मजरा करीला की है। जहां करीला निवासी लवकुश कुशवाहा पुत्र मलाय, उनकी पत्नी सीमा कुशवाहा इन दिनों बेहद आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे। आर्थिक तंगी की वजह से वह अपनी 2 वर्ष की मासूम बच्ची का लालन पालन नहीं कर पा रहे थे। पति मजदूरी करता था और पत्नी सिलाई सम्बन्धी कार्य करती थी पर उनका काम नहीं चल रहा था इसी आर्थिक तंगी से परेशान होकर उन्होंने अपने ही घर में म्याहरी पर साड़ी के फंदे के सहारे लटककर आत्महत्या कर ली और अपने पीछे दो वर्ष की अपनी मासूम बेटी को छोड़ा दिया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची तालबेहट पुलिस ने दम्पत्ति की शवों को उतरवाकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भिजवा दिया।

ग्राम प्रधान की सफाई :- ग्राम प्रधान रघुराज यादव ने फोन पर बताया कि मृतक दंपत्ति गांव से बाहर जाकर मजदूरी करता था। लॉकडाउन के बाद वह गांव वापस आ गया और यहीं रह कर अपनी गुजर-बसर कर रहा था। उसका कोई जॉब कार्ड नहीं बना था और न ही मनरेगा के तहत उसे कोई काम मजदूरी दी गई थी। हां, इतना जरूर है कि उसके पिता का जॉब कार्ड बना था और अगर वो चाहता तो उस पर मजदूरी कर सकता था लेकिन उसने कभी मजदूरी नहीं मांगी। उनका कहना है कि फिलहाल आत्महत्या के कारणों का स्पष्ट रूप से पता नहीं चल सका है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned