जेल प्रशासन के अथक प्रयास के बाद जेल में निरुद्ध सभी कैदी हुए कोरोना से आजाद, रिपोर्ट आई नेगेटिव

- कई कैदियों को हाई पॉवर कमेटी की सिफारिश पर छोड़े जाने की प्रक्रिया हुई सुचारू
- पिछले दिनों जिला कारागार में करीब एक सैकड़ा कैदी पाए गए थे संक्रमण से ग्रसित

By: Abhishek Gupta

Published: 07 May 2021, 09:00 PM IST

ललितपुर. पिछले दिनों जिला कारागार में निरुद्ध एक सैकड़ा से अधिक कैदी कोरोना संक्रमण से ग्रसित पाए गए थे, जिन्हें जेल में ही बने आइसोलेशन सेंटर में क्वारन्टीन किया गया था। समय अवधि पूर्ण होने के बाद कैदियों का टेस्ट कराया गया तो ज्यादातर की रिपोर्ट नेगेटिव आई, लेकिन कई कैदी फिर भी पॉजिटिव निकले। जिसके बाद जेल प्रशासन में अथक प्रयास किया और सभी कैदियों को कोरोना से मुक्ति दिलाने में कामयाबी हासिल की।

जानकारी के अनुसार जिला कारागार में शेष 06 धनात्मक बंदियों की पुनः कोविड-19 की जांच करवाई गई। जांच में सभी बंदीयों की कोरोना रिपोर्ट ऋणात्मक पाई गई । वर्तमान में जिला कारागार में कोई भी बंदी कोविड-19 धनात्मक निरुद्ध नहीं है। प्रभारी कारापाल सुरेश कुमार के अथक प्रयासों एवं जेल अधीक्षक के कुशल मार्ग दर्शन से सभी बंदियों में कोविड-19 संक्रमण के विरुद्ध सकारात्मक ऊर्जा का संचार किया गया तथा उन्हें सभी अनुमन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गई। इसके साथ साथ समय-समय पर सभी बंदियों के शरीर का तापमान तथा एसपीO2 लिया गया । प्रभारी कारापाल द्वारा सभी बंदियों को बराबर योग करते रहने हेतु प्रेरित किया गया, जिससे कोविड-19 जैसे प्राणघातक संक्रमण से बचाव में मदद प्राप्त हो सकी। ईश्वर की कृपा से वर्तमान में जिला कारागार में निरुद्ध सभी बंदी कोविड- 19 संक्रमण से बाहर आ चुके हैं अर्थात वर्तमान में जिला कारागार में निरुद्ध कोई भी बंदी कोविड-19 संक्रमित नहीं है ।कोरोना संक्रमण के द्रष्टिगत कारागार में निरुद्ध बंदियों को एचपीसी अर्थात हाई पॉवर कमेटी की सिफारिश पर छोड़े जाने की कार्यवाही शुरू हो चुकी है ।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned