वृद्धावस्था पेंशन के कागजात बनवाने के बहाने कराई रजिस्ट्री, पीड़ित परिवार बैठा अनशन पर

वृद्धावस्था पेंशन के कागजात बनवाने के बहाने कराई रजिस्ट्री, पीड़ित परिवार बैठा अनशन पर

Akanksha Singh | Publish: Sep, 04 2018 02:33:30 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

कहा गया है कि घर का भेदी लंका ढाए अर्थात घर का ही कोई आदमी अगर साजिश रचता है तो घर वालों को उस पर यह विश्वास नहीं होता

ललितपुर. कहा गया है कि घर का भेदी लंका ढाए अर्थात घर का ही कोई आदमी अगर साजिश रचता है तो घर वालों को उस पर यह विश्वास नहीं होता कि यह हमारे खिलाफ भी साजिश रच सकता है और वह साजिश रच कर बड़े से बड़े काम करवा लेता है। ऐसे ही एक मामले में एक नाती ने साजिश के तहत अपनी दादी से उसकी पूरी जमीन हथिया ली। शहर की ह्रदय स्थली घंटाघर पर उस समय हड़कंप मच गया जब एक पीड़ित परिवार न्याय पाने की उम्मीद में भरी बरसात में घंटाघर के मैदान पर अनशन पर बैठ गया। जैसे ही परिवार अनशन पर बैठा देखने वालों का तांता लग गया हर तरफ केवल यही चर्चा थी कि इस भरी बरसात में आखिर इस परिवार को अनशन पर क्यों बैठना पड़ा। पड़ताल के बाद पता चला कि मामला थाना जखोरा के अंतर्गत ग्राम बांसी का है, जहां की लगभग 103 वर्षीय वृद्ध विधवा महिला राजरानी को उसी के नाती स्वामी पुत्र भगवत अपनी पत्नी शशि और अपने ससुर अर्जुन के साथ मिलकर अपनी दादी को जबरन बृद्धा पेंशन के कागजात बनबाने की कहकर तहसील तालबेहट ले गया । जहां पर उसने रजिस्ट्री लेखक विनोद कुशवाहा के साथ मिलकर राजिस के तहत उस बृद्धा के रजिस्ट्री के कागजात तैयार करवाएं एवं रजिस्ट्रार ऑफिस में जाकर उसने साजिश के तहत बृद्धा के नाम पूरी जमीन की रजिस्ट्री करवा ली । तथा जो जमीन शेष बची थी उसका वसीयतनामा भी करवा लिया । जिसकी शिकायत जिलाधिकारी से 25 अगस्त को वृद्धा ने की थी मगर कार्यवाही ना होने पर वह परिवार के साथ अनशन पर बैठ गई ।

वृद्धा राजरानी ने बताया कि वह बहुत ही कम सुन पाती है एवं उसे कुछ भी दिखाई नहीं देता । उसके नाती ने कहा कि चलो तुम्हारी वृद्धा पेंशन के कागजात तहसील में तैयार करवाने हैं जिससे तुम्हारी वृद्धा पेंशन शुरू हो जाएगी । मैं अपने नाती की बातों में आ गई और उसके साथ तहसील चली गई वहां पर मुझसे कहा गया कि साहब के सामने तुम्हें केवल सिर हिलाना है जो मैंने किया । उसके बाद मुझे पता चला कि मेरी सारी जमीन की रजिस्ट्री साजिश के तहत मेरे नाती एवं रजिस्ट्री लेखक ने करवा ली ।


इनका कहना है

इस मामले में जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है पूरे मामले की जांच करवाई जाएगी और इसमें जो दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई कर रजिस्ट्री खारिज करने की भी कार्यवाही की जाएगी । तो वहीं पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने भी कहा कि इस मामले में जांच के बाद सही होने पर धोखाधड़ी की धाराओं में कार्रवाई की जाएगी ।

Ad Block is Banned