ललितपुर के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी राहत किसानों को मिली: मंत्री सूर्य प्रताप शाही

ललितपुर के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी राहत किसानों को मिली: मंत्री सूर्य प्रताप शाही
Agriculture Minister Surya Pratap Shahi

Shatrudhan Gupta | Updated: 27 Sep 2017, 07:22:34 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने आज जनपद आकर समीक्षा बैठक ली और कमियां मिलने पर अफसरों को फटकार भी लगाई।

ललितपुर. जिले के प्रभारी मंत्री व योगी सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने आज जनपद आकर समीक्षा बैठक ली और कमियां मिलने पर अफसरों को फटकार भी लगाई। बैठक जनपद में कम वर्षा को लेकर बुलाई गई थी। इसमें अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वह जनपद में वर्षा कम होने के कारण किसानों को जो नुकसान हुआ है, उनका सही तरीके से सर्वे करें, ताकि प्रदेश सरकार इस नुकसान की भरपाई कर सके। बैठक में उन्होंने सरकार द्वारा चलाई जा रही जन हितेषी योजनाओं की भी समीक्षा की। बैठक में राज्य मंत्री मन्नू कोरी भी मौजूद रहे।

मंत्री शाही ने बताया कि जनपद ललितपुर में सर्वे रिपोर्ट के अनुसार 58 प्रतिशत बारिश हुई है। इस कारण उर्द और मूंग की फसल की पैदावार कम हुई। सूखे को लेकर सरकार गंभीर है और आगामी कार्य योजना बना रही है। सरकार पीडि़त किसानों के लिए 177 क्विंटल चना, राई, मसूर आदि के बीज किसानों को उपलब्ध कराएगी, जो एक किट के रूप में होगी। जनपद में रोजगार की दृष्टि से 25 करोड़ का मनरेगा रोजगार सृजित करवाने की कार्ययोजना है। वर्तमान में सरकार निश्चित ताला योजना में 370 तालाब बनवाए हैं, जिससे किसानों को सीधा पानी खेत के लिए मिल सके। मंत्री शाही ने कहा कि बैठक में हमने निर्देश दिए हैं कि कृषि विभाग तथा बीमा कंपनी फसलों का सर्वेक्षण करें और किसानों के नुकसान की भरपाई की व्यवस्था करे

सरकार की छह माह की गिनाईं उपलब्धियां

मंत्री शाही ने इस दौरान योगी सरकार की छह माह की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसान ऋण मोचन योजना के तहत सीमांत और लघु सीमांत किसानों को प्रथम चरण में 44 लाख 95 हजार 738 रुपयों का कर्जा माफ किया है। दूसरा चक्र भी पूरा कर लिया गया है। इसके तहत लगभग 21 हजार किसानों का कर्ज माफ किया गया है। उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि अभी तक किसी भी सरकार ने इतना बड़ा कर्जा माफ नहीं किया है, भाजपा सरकार ने किया है।

बुंदेलखंड के विकास पर कहा

बुंदेलखंड के विकाश को लेकर उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड का मूल व्यवसाय खेती है। हमारी सरकार ने बुंदेलखंड के किसानों के लिए बहुत कुछ किया ह। पहली योजना किसानों का कर्जा माफ किया गया है। दूसरी योजना बुंदेलखंड में खेत तालाब योजना लागू कर किसानों को राहत देने का काम किया है। किसान अपने ही खेत में तालाब बनाकर पानी को एकत्रित कर सीधा अपने खेत में दे सकता है, जिसे फसलों की पैदावार अच्छी होगी। कृषि विभाग, उद्यान विभाग ने मिलकर किसानों को सपिंकलर सिस्टम देने की योजना है। लघु और सीमांत किसानों को इस वर्ष कृषि विभाग 11 हजार सपिंकलर सिस्टम सेट देने वाला है, जिसमें 63 से लेकर 80 प्रतिशत तक की छूट प्रदान की जाएगी। प्रधानमंत्री फसली बीमा योजना किसानों के लिए कारगर साबित हुई है। इस योजना के तहत बुंदेलखंड में 392 करोड़ का भुकतान किसानों की छतिपूर्ति के लिए दिया गया है, जो कुल बजट का 36 प्रतिशत है।

पूर्व में हुए घोटालों पर कहा

पूर्ववर्ती सरकारों में उत्तर प्रदेश में जो घोटाले हुए हैं और घोटाला पर उन्होंने कहा कि जो घोटाले प्रकाश में आए हैं उन पर कार्रवाई शुरु हो गई है । पूर्व वर्ति सरकार में जो पब्लिक सर्विसिज कमीशन में नौकरियों के भीतर उन्होंने जो गड़बड़ी की थी उनकी जांच सीवीआई के द्वारा कराई जा रही है। लखनऊ के भीतर रिवर फ्रंट पर उन्होंने जो काम किया था उसकी भी जांच कराई जा रही है और जो भी तथ्य सामने आएंगे उन सभी पर जांच कराई जाएगी।

पलायन पर कहा

बुंदेलखंड से मजदूरों के पलायन पर बोले कि बुंदेलखंड में पलायन कहीं नजर नहीं आ रहा। यहां पर रोजगार के लिए मनरेगा योजना के तहत काम उपलब्ध कराया गया है यहां पर पीने के लिए पानी है। बिजली संबंधी समस्त कठिनाइयों को दूर कर भरपूर मात्रा में बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। प्रधानमंत्री रोजगार योजना मुद्रा योजना आधी से बुंदेलखंड में रोजगार के अवसर बड़े हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned