5 लोगों ने किया नाबालिग का गैंगरेप, हुई गर्भवती, फिर गांव वालों ने जो किया वो है खौफनाक

गांव की नाबालिग किशोरी को डरा-धमका कर लगातार किया था बलात्कार.

By: Abhishek Gupta

Published: 10 Nov 2017, 10:02 PM IST

ललितपुर. रेप अपने आप में एक जघन्य अपराध है, लेकिन ललितपुर में जो मामले सामने आया है वो किसी को भी झकझोर देगा। मामला ललितपुर सदर कोतवाली क्षेत्र के गंगासागर गांव का है, जहां एक नाबालिग किशोरी के साथ 5 लोगों ने गैंग रेप किया और उसके परिवार को लगातार डराते धमकाते रहे। यहीं नहीं जब नाबालिग के पेट में गर्भ आ गया तब डरा-धमकाकर उसे गर्भ गिराने की गोलियां खिला दी जिस से गर्भ गिर गया।

पंचायत न पीड़ित परिवार को ही दे दिया दंड-

इस बात की जानकारी जब गांव वालों को हुई तो उन्होंने पंचायत बुलाई। 12 गांव के लोग पंचायत में इकट्ठे हुए। पंचायत में आरोपियों पर पांच ₹5000 अर्थ दंड लगाया गया, लेकिन बेकसूर पीड़ित परिवार पर भी ₹10000 का जुर्माना लगा दिया। साथ ही पीड़ित परिवार को गांव से छोड़ देने के लिए कहा गया। पीड़िता के पिता ने बताया कि पंचायत के इस फरमान को मानते हुए वह 3 माह तक अपने खेत पर सोता रहा। लोगों ने गांव के हैंड पंप से पानी भरने को भी मना कर दिया। आरोपी पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देते रहे।

पीड़िता को करवाई गई जबरन शादी-

आरोपियों ने धमकाकर नाबालिग पीड़िता की शादी दूसरे गांव में करवा दी, लेकिन जब गैंगरेप की जानकारी पीड़िता के ससुराल वालों को हुई तो उन्होंने भी उसे वहां से भगा दिया। गांव की पंचायत के फरमान को मानते हुए पीड़ित परिवार को शादी समारोह में बुलाना भी बन्द कर दिया गया। पीड़िता के परिवार को कहा गया कि जब वह सत्यनरायण की कथा एवं रामायण कर लेंगे तभी वह समाज में शामिल हो सकते हैं।

मीडिया ने उठाया मुद्दा, जागा पुलिस प्रशासन-

पीड़ित परिवार जब शिकायत दर्ज करने पुलिस के पास पहुंचा तो उसकी शिकायत दर्ज नहीं हुई। वह मदद के लिए भटकता रहा। अंत में मीडिया ने जब मामले को उछाला, तब पुलिस के उच्च अधिकारियों ने इस मामले को संज्ञान में लिया और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने का फरमान जारी किया।

सदर कोतवाली के कोतवाल भरत कुमार पांडे ने आधा दर्जन व्यक्तियों पर गुंडा एक्ट की कार्यवाही की है। इनमें जय हिंद सिंह पुत्र बृजभान सिंह, विजय सिंह पुत्र मानिक, पुष्पेंद्र पुत्र रामसिंह , सुमेर पुत्र प्रीतम सिंह , करतार सिंह पुत्र गोविंद सिंह आदि शामिल हैं। इन पर आरोप है कि यह संगठन ग्रुप बनाकर लड़कियों को डरा धमकाकर आतंकित करते रहते थे तथा शारीरिक सुख प्राप्त करते थे। पुलिस ने इन अपराधियों पर 2/3 गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही की है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned