कोरोना वैक्सीनेशन पर झूठी अफवाह फैलना पड़ा महंगा, कोटेदार पर मुकदमा दर्ज

आरोप है कि कोटेदार गांव में लोगों वैक्सीनेशन के खिलाफ भड़का रहा था। जिला प्रशासन ने ग्रामीणों को जागरूक करने के उद्देश्य से ग्राम प्रधानों और कोटेदारों को सौंपी थी जिम्मेदारी।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

ललितपुर. कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर झूठी अफवाह फैलाना कोटेारद को महंगा पड़ गया। पुलिस ने कोटेदार व उसके एक अन्य साथी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोटेदार पर आरोप है कि उसे कोविड वैक्सीनेशन के प्रति लोगों को जागरूक करने की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन वह लोगों को गलत जानकारी देकर भ्रमित करने लगा।

इसे भी पढ़ें- कोविड वैक्सीनेशन: अफवाह के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण टीम को गांव से बाहर निकाला

 

कोरोना वायरस के संक्रमण से फैलने वाली महामारी को मात देने के लिए भारत सरकार द्वारा वैक्सीन ईजाद की गई और सभी लोगों को वैक्सीन लगवाने का आग्रह किया गया ताकि सभी लोगों को महामारी के प्रकोप से बचाया जा सके। टीकाकरण से जानलेवा संक्रामक बीमारी से जान जाने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है या फिर ना के बराबर रहता है।

इसे भी पढ़ें- COVID Vaccination: स्केल अप कोविड वैक्सीनेशन की हुई शुरुआत, पहले दूर की जाएगी लोगों की भ्रांतियां, फिर लगाया जाएगा टीका

हालांकि वैक्सीनेशन को लेकर ज्यादातर पिछड़े और ग्रामीण क्षेत्रों के लोग जागरूकता के अभाव में वैक्सीन लगवाने से कतरा रहे हैं। ऐसे क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करने के लिये प्रदेश सरकार के दिशा निर्देश में जिला प्रशासन द्वारा गांव के दो प्रभावी जनप्रतिनिधियों को इस काम की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

इसे भी पढ़ें- यूपी में वैक्सीनेशन के लिए पांच कैटेगरी, जानिए किसको कैसे मिलेगी टीकाकरण की विशेष सुविधा


जिला प्रशासन ने एक बैठक कर ग्राम प्रधानों और गांव में तैनात कोटेदारों को यह जिम्मेदारी सौंपी थी कि वह गांव में जागरूकता फैलाएं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करें। पर ललितपुर के बम्होरी गांव के कोटेदार पर आरोप है कि उसने गांव के लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने के बजाय वैक्सीनेशन को लेकर उल्टी-सीधी बातें बतायीं। उसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

इसे भी पढ़ें- राज्य कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए अलग होगी व्यवस्था, 1 जून सभी जिलों में टीकाकरण होगा शुरू

 

जैसे ही गांव के कोटेदार द्वारा वैक्सीनेशन को लेकर अफवाह फैलाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, आम लोगों के साथ-साथ अधिकारियों की भी कान खड़े हो गए। मामले को संज्ञान में लेते हुए पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार के निर्देशन पर कोरोना बैक्सीन को लेकर गलत अफवाह फैलाने के आरोप में कोटेदार नाथूराम अहिरवार के साथ एक अज्ञात व्यक्ति पर जाखलौन थाना में मुकद्दमा दर्ज आईपीसी धारा 505 (2) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

By Sunil Jain

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned