भारी बारिश के बाद भी यहां भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की मंदिरों में मची है धूम

भारी बारिश के बाद भी यहां भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की मंदिरों में मची है धूम

Mahendra Pratap | Publish: Sep, 02 2018 06:18:56 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 08:16:18 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

जन्माष्टमी पर बारिश के बाद भी नहीं टूटा लोगों का साहस

ललितपुर. भगवान श्रीकृष्ण को कई नामों से जाना जाता है। उनकी लीलाओं में कई तरह की शिक्षाएं भी उनके भक्तों को मिलती हैं। भगवान श्रीकृष्ण जब अपनी माता देवकी के गर्भ में आए, तब से लेकर अब तक उनकी लीलाओं की चर्चा हमेशा होती रहती है। भगवान श्रीकृष्ण का जब जन्म जेल में हुआ तब सावन भादो की झड़ी लगी हुई थी। इसी के साथ जनपद में पिछले 3 दिनों से लगातार बारिश हो रही है जिससे यहां पर जनजीवन अस्त-व्यस्त है। मगर इस भारी बारिश में भी यहां के लोग मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म उत्सव की तैयारियां कर रहे हैं।

बाजारों में उमड़ी भीड़

जन्मोत्सव की पूजा से संबंधित सामग्री को खरीदने के लिए भारी बरसात में भी बाजारों में भीड़ देखने को मिली।हालांकि बारिश के कारण हालात खराब है फिर भी भक्तों ने हार नहीं मानी और जंगल में स्थित विंध्याचल पर्वत की गोद में बने मंदिरों में भक्तों की पहुंचने का तांता लगा हुआ है।

रणछोड़ धाम से जुड़ी कथा

शहर की हृदयस्थली तुवन मंदिर के पास पाल समाज का राधा कृष्ण का मंदिर बना है। जन्माष्टमी पर विशेष इन मंदिरों को सजाया गया है। वहीं भगवान श्री कृष्ण की एक कथा से जुड़ा हुआ स्थान रणछोड़ धाम भी है जिसके बारे में एक कथा प्रचलित है। माना जाता है कि जब राक्षस कालयवन ने भगवान श्रीकृष्ण को युद्ध के लिए ललकारा था, तब वह वहां से भागकर इस स्थान पर आए थे। यहां आ कर मचकुंड गुफा में ऋषि मचकुंद के द्वारा उसका राक्षस का वध करवाया गया था। आज रणछोड़ मंदिर पर भक्तों का तांता लगा हुआ है एवं मचकुंड गुफा में भी भक्त भजन कीर्तन कर रहे हैं।

भारी बारिश के बाद भी नहीं टूटा साहस

भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के बारे में मंदिर के पुजारी राम सहाय जी का कहना है कि सुबह मंदिर में सुंदरकांड कीर्तन हुआ था। रात्रि में 11:00 बजे जन्म उत्सव का कार्यक्रम होगा। भगवान के जन्मोत्सव के समय जैसी बारिश हो रही थी वैसी ही बारिश यहां भी हो रही है। उन्होंने बताया कि बारिश के बाद भी भक्तों का साहस नहीं टूटा मंदिरों में भक्तों की भीड़ लग रही है।

Ad Block is Banned