एक ही दिन दो अलग-अलग सड़क दुर्घटना, 13 लोगों की मौत

एक ही दिन दो अलग-अलग सड़क दुर्घटना, 13 लोगों की मौत

Karishma Lalwani | Publish: Nov, 10 2018 11:56:45 AM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 12:12:02 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

ललितपुर में दो अलग-अलग सड़क दुर्घटनाएं हुई, जहां एक हादसे में 7 लोगों की मौत हो गयी तो वहीं दूसरे में 6 की मौत हो गयी

ललितपुर. त्योहार के दिन ललितपुर में दो अलग-अलग सड़क दुर्घटनाएं हुई, जहां एक हादसे में 7 लोगों की मौत हो गयी तो वहीं दूसरे में 6 की। इसी के साथ कई घायल भी हुए। सभी घायलों को जिला अस्पताल तथा झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। पहली घटना कोतवाली तालबेहट के अंतर्गत ग्राम पवा हाइवे 44 की है, जहां ओरछा से लौट रहे लगभग 45 मोनिया से भरी एक पिक अप अचानक सड़क पर आई गाय को बचाने के चक्कर में अनियंत्रित होकर पलट गई। इसमें चार लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और लगभग 3 दर्जन लोग घायल हो गए। वहीं सदर एसडीएम ने सभी घायलों और मृतकों के परिवार वालों को मुआवजा देने की बात कही है।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी मृतकों एवं घायलों को स्थानीय लोगों की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तालबेट पहुंचाया। कई लोगों की हालत गंभीर होने पर उन्हें जिला चिकित्सालय एवं मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। मेडिकल कॉलेज जाते समय एक मोनिया की मौत रास्ते में हो गई थी। वहीं दूसरी घटना कोतवाली महरौनी क्षेत्र के टीकमगढ़ रोड की है, जहां एक तेज रफ्तार कार में दो मोटरसाइकिल पर सवार पांच लोगों को जोरदार टक्कर मार दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से सभी पांचों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महरौनी भिजवाया। स्वास्थ्य केंद्र जाते समय एक की मौत रास्ते में ही हो गई जबकि चार अन्य घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महरौनी से हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल में भर कर दिया गया। सभी घायलों के परिजनों ने अस्पताल आकर उनका हाल जाना।

सूचना पाकर लगभग सभी प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे एवं हालातों का जायजा लेकर तत्काल चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराई। सेना को सूचना देकर सेना के डॉक्टरों एवं उनकी कर्मचारियों की मदद ली गई।

जब उठी एक साथ 6 अर्थियां

पिकअप दुर्घटना में ग्राम सिलगन के 6 लोगों की एक साथ मौत होने से जहां परिवार में कोहराम मच गया, तो वहीं दूसरी ओर गांव में सन्नाटा पसरा रहा। प्रशासनिक अधिकारियों ने पोस्टमार्टम के बाद सभी 6 मृतकों के घर उनके शवों को भिजवाया। जैसे ही गांव में शव पहुंचे गांव में मातम छा गया। हर ग्रामीण की आंख नम थी।

मिलेगी मुआवजा राशि

घायलों के परिजनों ने सेना के कार्यों की तारीफ की। उन्होंने कहा कि जैसे ही सेना के डॉक्टरों एवं उनके कर्मचारियों को दुर्घटना की सूचना मिली, वह तत्काल अस्पताल आ गए और घायलों का इलाज करने में जुट गए। यहां तक कि उन्होंने घायलों को अपनी गाड़ियों से जिला अस्पताल पहुंचाया जो सराहनीय काम है। इस मामले में सदर एसडीएम घनश्याम वर्मा ने कहा कि सभी घायलों एवं मृतकों को किसान बीमा धन की मुआवजा राशि मिलेगी। लेखपाल को गांव में भेजकर पूरा सर्वे कराया जाएगा एवं सभी को आर्थिक मदद भी दी जाएगी।

Ad Block is Banned