आपसी विवाद के कारण दो पुलिसकर्मियों ने महिला और उसके बच्चों की कर दी पिटाई, वीडियो वायरल

आपसी विवाद के चलते दो पुलिसकर्मियों ने घर में घुसकर एक महिला और और उसके बच्चों की बर्बरता की पिटाई की

By: Karishma Lalwani

Published: 01 Jul 2020, 05:19 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

ललितपुर. जिले के कोतवाली तालबेहट के स्थानीय कस्बा में एक ही परिवार के दो पुलिसकर्मियों की खुली गुंडागर्दी सामने आई है। जिसमें आपसी विवाद के चलते दो पुलिसकर्मियों ने घर में घुसकर एक महिला और और उसके बच्चों की बर्बरता की पिटाई की। वहां निवासी तहसील में चपरासी के पद पर कार्यरत नत्थू प्रजापति और उनके दो पुलिस कर्मी लड़कों सुरेंद्र राजेश अपने भाई बृजेश की शादी में जोरदार आवाज डीजे बजा रहे थे। जिससे मुहल्लेबासियों को काफी परेशानी हो रही थी और जब उन्हें डीजे बजाने से मना किया तो उन लोगों ने शराब के नशे में मुहल्ले की ही कल्पना पत्नी चंद्रेश के घर में घुसकर उसके और उसके बेटा 13 बर्षीय रामकुमार और 15 वर्षीय बेटी के साथ जमकर मारपीट की। आलम यह था कि दौनों भाई शराब के नशे में चूर होकर वर्दी का रौब झाड़ते हुए जमकर गाली-गलौज कर रहे थे एवं लात घूसों लाठियों से मां के साथ बेटा और बेटी की जमकर पिटाई कर रहे थे। चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर जब अड़ोस पड़ोस में रहने वाले लोग उन्हें बचाने के लिए दौड़े तब नशे में चूर तीनों भाइयों ने उन लोगों के साथ ही जमकर गाली गलौज एवं मारपीट की। इतना ही नहीं पीड़ित कल्पना महिला का आरोप है कि उन लोगों ने घर का सामान तोड़फोड़ कर तहस-नहस कर दिया और उत्पात मचाते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए।

पीड़ित महिला का कहना है कि वह लोग कह रहे थे कि हम सब पुलिस वाले हैं और पुलिस में तुम्हारी कोई सुनवाई नहीं होगी इसके बाद भी वह अपनी बच्चों को लेकर कोतवाली तालबेहट पहुंची जहां उसने एक लिखित शिकायत पत्र दिया । लेकिन कोतवाली तालबेहट पुलिस ने अपने ही विभागीय कर्मचारियों का सपोर्ट करते हुए उसे समझा बुझा कर भगा दिया लेकिन ना तो उसका मुकदमा लिखा और ना ही किसी तरह की कोई डॉक्टरी करवाई उल्टा यह कह दिया कि वह सब पुलिस वाले हैं तुन्हें उसके साथ ऐसा नहीं करना चाहिए था। जब उन पुलिस वालों को यह पता चला कि मैं रिपोर्ट करने गई थी तब वह पुनः घर पर आए और जमकर गाली-गलौज की। हम लोगों ने डर के मारे दरवाजा नहीं खोला और सुबह होते ही हम पुलिस अधीक्षक की चौखट पर सुरक्षा की गुहार के साथ-साथ मामला दर्ज कर तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की गुहार लगाते हुए आये है। इस मामले में पीड़िता ने बताया कि सुरेंद्र पुलिस विभाग में बांदा में तैनात है तो राजेश महोबा में तैनात है और उसका पिता नत्थू तहसील में चपरासी के पद पर है जो शराब पीकर अक्सर मोहल्ले में गाली गलौज करते रहते हैं। अभी वह अपने ही भाई की शादी में आए थे। जब मोहल्ले में धमाल मचा रहे थे तब उन्हें मना किया जिस बात को लेकर उन्होंने घर में घुसकर हमारे और हमारी बेटी और बेटे के साथ जमकर मारपीट की।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned