पुलिस ने महज 20 घंटे में किया लूटकांड का खुलासा, गोली मारकर एक पिता-पुत्र से लूटे थे एक लाख रुपये

नवीन गल्ला मंडी के पास हाईवे पर बदमाशों ने एक किसान पिता पुत्र को गोली मारकर उसके एक लाख रुपये लूट लिए ।

ललितपुर. ललितपुर शहर में उस समय हड़कंप जैसा माहौल उत्पन्न हो गया था जब लोगों के पास यह खबर आई कि नवीन गल्ला मंडी के पास हाईवे पर बदमाशों ने एक किसान पिता पुत्र को गोली मारकर उसके एक लाख रुपये लूट लिए । अभी लगभग एक माह पहले शहर के पॉश इलाके में कुछ अज्ञात बदमाशों ने एक ठेकेदार को उसके घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी । यह मामला ठंडा भी नहीं हो पाया था कि किसान को गोली मारकर घायल कर उसके पैसे लूटने का दूसरा मामला सामने आया था ।


पुलिस ने किया खुलासा

पिता पुत्र के साथ हुई लूट की वारदात को कोतवाली पुलिस ने महज लगभग 18 घंटों में खुलासा कर दिया । पुलिस को जब पिता पुत्र के साथ गोली मारकर लूटने की खबर मिली तब पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार विजेता क्षेत्राधिकारी हिमांशु गौरब भारी पुलिस बल के साथ जिला अस्पताल पहुंचे और घटना में घायल सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम बमोरी नागल निवासी राम सिंह पुत्र जुग्गी 55 वर्षीय व्यक्ति तथा उसका पुत्र राजा यादव से मिलकर उनका हाल जाना एवं घटना के बारे में पूरी जानकारी ली । इस मामले में पिता पुत्र ने पुलिस को अवगत कराया कि वह गल्ला मंडी से अपना गला बेचकर घर जा रहे थे तभी अज्ञात बदमाशों ने उन्हें हाईवे के पास गोली मार दी और उनका नगदी एक लाख रुपये लूटकर ले गए जिनमें से एक आरोपी की पहचान भी की थी । पूरी बात सुनने के आधार पर सलमान ताज पाटिल के निर्देशन में पुलिस टीम गठित की गई और इस घटना का विवेचक सीओ सदर हिमांशु गौरव को बनाया गया । सीओ सदर ने अपनी देखरेख में पूरी घटना की जांच पड़ताल की जैसा कि पिता-पुत्र ने बताया था कि गल्ला मंडी से अनाज बेच कर रुपए ले जा रहे थे पुलिस टीम ने जब उनसे पूछताछ की तब पहली ही बार में यह बात साबित हो गई कि वह गल्ला मंडी से कोई पैसा लेकर नहीं गए थे । जांच के दौरान एक बात निकलकर सामने आई कि यह पूरा मामला जुए से संबंधित है जिसमें एक पार्टी जुए में अपना पैसा हार गई थी और पिता पुत्र दोनों जुए में जीती रकम को लेकर अपने घर जा रहे थे तभी जुए में हारी रकम को लेकर पीछे से जुआ खेलने उक्त व्यक्ति आ गए और उन्होंने फायर कर अपना एक लाख रुपया पिता-पुत्र से लूट लिया । घटना की जानकारी होने के बाद पुलिस ने तहरीर के आधार पर इस घटना को 395 397 धाराओं में पंजीकृत कर विवेचना के आदेश दिए थे।


यह था पूरा मामला

अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार विजेता ने इस घटना का पटाक्षेप करते हुए बताया कि जब गठित पुलिस टीम शहर के वर्णी चौराहे पर इस घटना के बारे में चर्चा कर रहे थे तभी मुखबिर से सूचना मिली कि उक्त घटना से संबंधित नामजद अभियुक्त गगन पंथ उर्फ गौरब गगन कोहली मरघटा के पास मोटरसाइकिल लिए मौजूद है । मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने चिन्हित स्थान पर जब छापा मारा तो वहां पर मोटरसाइकिल के साथ गगन मौजूद था वह पुलिस को देख कर हावड़ा गया और उसने अपना तमंचा निकालकर पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से एक फायर कर दिया । हालांकि इस फायर में पुलिस टीम बाल-बाल बच गई पुलिस टीम ने बल प्रयोग कर घेराबंदी कर उक्त अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया । पुलिस ने जब उस अभियुक्त की जामा तलाशी ली तो उसके पास से एक तमंचा 315 बोर तथा एक कारतूस का खाली खोका एवं चार जिंदा कारतूस के साथ एक मोटरसाइकिल यूपी 94 एस9022 बरामद की । इस अभियुक्त के पास से जामा तलाशी के दौरान 12200 रुपया नगद बरामद हुए पुलिस की पूछताछ के दौरान गगन ने बताया कि ग्राम बमोरी नगर में दिनभर जुगा चलता रहता था । जिसमें अनूप यादव लगभग एक लाख रुपया हार गया था जिसे बमोरी नागल की राजा सिंह यादव ने जीत लिया था । जिस पर अनूप यादव ने कहा कि तुम रुपया जीतकर इस तरह नहीं जा सकते अभी और जुआ खेलना है तो वहीं रुको मैं पैसा लेकर आता हूं । अनूप यादव ने ललितपुर आकर हमें छोटू संदीप गहला देवेंद्र बंटी राजा तथा सानू को लेकर चार मोटरसाइकिल के साथ बमोरी नागल गया और वहां पर राजा सिंह से कहा कि तुमने बेईमानी से हमारा पैसा जीता है हमारा रुपया वापस कर दो । तब राजा सिंह ने कहा कि यह पैसा हमने जीता है हमारा है इसी बीच राजा यादव का पिता भी वहां आ गया राजा यादव ने उक्त पैसे को अपने पिता राम सिंह को दे दिया । इसी बीच अनूप यादव तथा उसके साथियों ने मौका पाकर पत्थरों से इन लोगों पर हमला कर दिया एवं हॉकी लाठी-डंडों के सहारे मारपीट कर दी इस घटना में राम सिंह तथा राजा यादव को काफी चोटें आई । और वहां से राम सिंह और राजा यादव से एक लाख रुपया छीनने की कोशिश करने लगे इस छीना झपटी में अनूप यादव देवेंद्र तथा बंटी राजा ने अपने-अपने तमंचे से फायर कर दिया जिसमें एक गोली राजा सिंह के पिता को लगी और पैसा लेकर वहां से नौ दो ग्यारह हो गए। जब वहां से भाग रहे थे तब एक मोटरसाइकिल पर संदीप देवेंद्र सानू 3 लोग सवार हो कर भागने लगे मगर यह मोटरसाइकिल आगे जाकर अनियंत्रित होकर गिर गई । इस दुर्घटना के बाद देवेंद्र और संदीप सानू को छोड़कर भाग गए तभी पीछे से अकील पुत्र समी निवासी नदीपुरा जो जुआ खेलकर आ रहा था और विवाद को देखकर मौके से डर कर भाग गया था पीछे से आ गया और सानू को घायल हालत में उठाकर जिला अस्पताल ले आया और वहां पर भर्ती कराकर चला गया । जैसे ही यह बात पुलिस टीम को पता चली पुलिस टीम ने तत्काल जिला अस्पताल जाकर जिला अस्पताल के गेट से सड़क पर सानू को गिरफ्तार कर लिया । इसकी जामा तलाशी लेने के बाद 7800 रुपए नगद बरामद किए पूछताछ के दौरान उसने सारी घटना को कबूला पुलिस ने दोनों अपराधियों के साथ इस मामले का खुलासा कर दिया ।


इनका कहना है

इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार विजेता ने बताया कि उक्त पूरा मामला जुए से संबंधित था और जुए में हार जीत की रकम को लूटा गया था । इस मामले में हम ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है शेष 6 आरोपियों की तलाश जारी है उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा तथा गांव में इस तरह खुलेआम कैसे जुआ खेला जा रहा है इस बात की भी तफ्तीश की जाएगी । तथा पुलिस को गुमराह करने वाले पिता पुत्र के खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी । यह मामला धारा 395 397 में पंजीकृत किया गया था जिसमें धारा 307 तथा 412 3/25 आयुध अधिनियम भी बढ़ाई गई है ।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned