यूरोपीय संघ के कानून से खुश है 71 फीसदी भारतीय कंपनियां

यूरोपीय संघ (ईयू) के ग्लोबल डाटा प्राइवेसी रेग्युलेशन (जीडीपीआर) से 71 फीसदी भारतीय कंपनियां खुश हैं, यह बात एक सर्वेक्षण की रिपोर्ट में कही गई।

By: Saurabh Sharma

Published: 03 Jul 2018, 01:12 PM IST

नर्इ दिल्ली। कर्इ भारतीय कंपनियां अमरीका में है। देश में रह रहे लोगों का भी सपना है कि उनकी कंपनी की पहुंच अमरीका तक पहुंच जाए। साथ ही ज्यादा से ज्यादा व्यापार अमरीका के साथ हो। लेकिन जो डाटा आैर रिपोर्ट सामने आर्इ है वो वाकर्इ चौंकाने वाली है। क्योंकि कर्इ भारतीय कंपनियों ने बिजनेस करने से लिहाज से युरोप को बेहतर बताया है। आइए आपको भी बताते हैं कि इस रिपोर्ट में आैर क्या गया है।

ये भी पढ़ेः- दुनिया के ये देश 45 हजार करोड़ रुपए की खा गए भारतीय मछली आैर झींगा

युरोप को पसंद करती है 71 फीसदी भारतीय कंपनियां
यूरोपीय संघ (ईयू) के ग्लोबल डाटा प्राइवेसी रेग्युलेशन (जीडीपीआर) से 71 फीसदी भारतीय कंपनियां खुश हैं। यह बात एक सर्वेक्षण की रिपोर्ट में कही गई। रिपोर्ट के अनुसार, इन कंपनियों का मानना है कि इस कानून से कारोबार और स्टार्टअप में निजता की समझ पैदा करने में मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ेः- ATM यूज करना हो सकता है महंगा, बैंकों ने आरबीआर्इ के सामने रखी डिमांड

इन्होंने कराया था सर्वेक्षण
डेलॉयट इंडिया और डाटा सिक्योरिटी ऑफ इंडिया (डीएससीआई) द्वारा यह सर्वेक्षण कराया गया था। सर्वेक्षण के अनुसार, जीडीपीआर की तत्परता के लिए काम करने वाले संगठनों में 80 फीसदी ने व्यक्तिगत या संवदेनशील डाटा में पहुंच बनाने की दिशा में अपनी प्रक्रियाओं की पहचान के लिए संबद्ध हितधारकों के लिए सामान्य जागरुकता अभियान चलाया है। सर्वेक्षण के नतीजे बताते हैं कि जीडीपीआर के लिए तैयार कंपनियों को प्रतिस्पर्धा का लाभ मिलेगा क्योंकि वे अपने नवाचारी और डिजीटलीकरण के व्यक्तिगत डाटा का उपयोग करने में समर्थ होंगे।

ये भी पढ़ेः- आेडिशा आैर कर्नाटक में बन रही है इमरजेंसी सुरंग, जो पेट्रोल-डीजल का करेंगी संरक्षण

जीडीपीआर पैदा करेगा नए अवसर
डेलॉयट इंडिया के साझेदार विशाल जैन ने कहा, "जीडीपीआर से डाटा निजता में नए सिरे से गौर किया जाएगा। जबकि यह नई अनुपालन अनिवार्यता है लेकिन कारोबार के लिए यह प्रतिस्पर्धा का लाभ भी प्रदान करता है। दरअसल, हमारे सर्वेक्षण का भी यही अनुमान है कि जीडीपीआर भारतीय कंपनियों के लिए कारोबार के नए अवसर हो सकते हैं।"

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned