2.7 फीसदी शेल कंपनियों के मिले बैंक डिटेल्स, 13 बैंको में 13,140 खातों का खुलासा

manish ranjan

Publish: Oct, 07 2017 02:01:39 (IST)

Corporate
2.7 फीसदी शेल कंपनियों के मिले बैंक डिटेल्स, 13 बैंको में 13,140 खातों का खुलासा

सरकार द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 2,09,032 संदिग्ध कंपनियों का रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज ने रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया है।

नई दिल्ली। शेल कंपनियों के जरिए काले धन को सफेद करने के मामले मे अब एक और बड़ा खुलास हुआ है। सरकार द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 2,09,032 संदिग्ध कंपनियों का रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज ने रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया है। वहीं अब इनमें से 5800 कंपनियों को बैंक डिटेल्स मिल चुका है। ये 5800 कंपनियां 13 बैंको में 13,140 खाते खोले थे। रजिस्ट्रेशन रद्द किए गए कंपनियों की संख्या के हिसाब से देखें तो ये 5800 कंपनिया कुल रद्द कंपनियों को केवल 2.77 फीसदी ही है। लेकिन इन खातों से होने वाले ट्रंाजैक्शन डिटेल्स में कई जानकारी चौकाने वाले है।


इनमें से कई कंपनियों के है सैकड़ो बैंक खाते

अभी दो माह पहले ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चार्टर्ड अकाउंट्स के एक प्रोग्राम मे कहा था कि नोटबंदी के बाद से सरकार ने लगभग दो लाख शेल कंपनियों के रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया है। इन 5800 कंपनियों के 13 बैंको में सैकड़ो खाते है। इनमे से गोल्ड सुख ट्रेंड इंडिया लिमिटेड नामक एक कंपनी, जिसका पीएएन संख्या एएसीसी334के है, के 2134 खाते पाए गए है। वहीं एक और कंपनी जिसका नाम अश्विनी वनस्पति इंडिया प्राइवेट लिमिटेड है, उसके भी 915 बैंक खातों का खुलासा हुआ है। अनुजय एग्जाम प्राइवेट लिमिटेड का नाम भी सामने आया है जिसके 313 बैंक अकाउंट है। इसके बाद भी कई ऐसी कंपनियां है जिनके 150 से अधिक खाते है। ये कंपनिया इतने खातों की मदद से कालेधन को सफेद करन मे लगी हुई है।


नोटबंदी के दौरान जमकर किया था कालेधन को सफेद

उल्लेखनीय है कि नोटबंदी के दिन (8 नवंबर 2016) के ठीक पहले इन कंपनियों के खातों में जीरो बैलेंस था या फिर बेहद कम बैलेंस था। एक सरकारी आंकड़े के अनुसार नोटबंदी के दौरान इन 13,140 कंपनियों के खातों मे 4,573.87 करोड़ रुपए जमा थे। वहीं नोटबंदी के कुछ दिनों बाद ही इन खातों से 4,552 करोड़ रुपए निकाल लिया गया। इसके बाद अब इन खातों में मात्र 22 करोड़ रुपए ही रह गए है। यदि इन शेल कंपनियों के प्रति खाते का हिसाब लगाएं तो पता चलता है अब इन कंपनियों के एक खाते मे मात्र 16741 रुपए ही रह गए हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned