scriptCentre moves to sc agains rcom for 2940 crore bank guarantee | सरकार ने अनिल अंबानी को दिया बड़ा झटका,इस बात पर चली गई सुप्रीम कोर्ट | Patrika News

सरकार ने अनिल अंबानी को दिया बड़ा झटका,इस बात पर चली गई सुप्रीम कोर्ट

इस केस को जस्टिस ए के सिकरी की अध्यक्षता वाली बेंच को सामने लाया गया है जिसकी सुनवार्इ मंगलवार को होनी है।

नई दिल्ली

Updated: November 27, 2018 08:47:17 am

नर्इ दिल्ली। देश के सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को रिलायंस कम्युनिकेशंस से बैंक गारंटी के तौर पर 2,940 करोड़ रुपए वसूलने को लेकर केंद्र की याचिका सुनने के लिए तैयार हो गर्इ है। इस केस को जस्टिस ए के सिकरी की अध्यक्षता वाली बेंच को सामने लाया गया है जिसकी सुनवार्इ मंगलवार को होनी है।

Anil Ambani


कोर्ट में दोनों पक्षों ने रखी अपनी बात

बैंक गांरटी के मामले को लेकर केंद्र की तरफ से एडिशनल साॅलिसिटर जनरल पी एस नरसिम्हा ने कोर्ट को बताया कि वो कर्इ तरह के सुरक्षा कारणों के बारे में सोच रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ, रिलायंस कम्युनिकेशंस का प्रतिनिधित्व कर रहे कपिल सिब्बल ने कहा कि कंपनी इस पेमेंट को पूरा करने की स्थिति में नहीं है। सिब्बल ने कहा, "हम बैंक गारंटी नहीं दे सकते हैं। बैंक पहले से ही सुरक्षित उधारकर्ता होते हैं। यदि उन्हें इसका खतरा होता तो यह डील होता ही नहीं।"


क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि गत 1 अक्टूबर को टेलिकाॅम ट्रिब्युनल ने कर्ज के बोझ में डूबी आरकाॅम को रिलायंस जियाे को स्पेक्ट्रम बेचने की अनुमति दिया था। अनिल अंबानी की अगुवार्इ वाली आरकाॅम ने टेलिकाॅम डिपार्टमेंट को चुनौती देते हुए कहा था कि वह बिना किसी आधार के ही स्पेक्ट्रम उपयोग को लेकर सेक्योरिटी मांग रही है। आरकाॅम की इस चुनौती के बाद उसे 15 दिसंबर तक का समय दिया गया था कि वो 550 करोड़ रुपए के पेडिंग पेमेंट को पूरा कर दे। यह पेमेंट टेलिकाॅम इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर एरिक्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के पक्ष में होना था। साथ में यह भी कहा गया था कि यदि आरकाॅम पेमेंट करती है तो उसे 12 फीसदी सालाना दर से ब्याज भी देना होगा।


कर्ज से उबरने के लिए बड़े भार्इ मुकेश अंबानी से किया था 25 हजार करोड़ का सौदा

एपेक्स कोर्ट की तरफ से यह फरमान एरिक्सन द्वारा 550 करोड़ रुपए के नाॅन पेमेंट को लेकर चुनाैती के बाद आया है। इसके लिए 30 सितंबर अंतिम तारीख तय की गर्इ है। दिसंबर 2017 में, अपने कर्ज रिजाल्व करने की योजना के तहत अनिल अंबानी की आरकाॅम ने अपने बड़े भार्इ मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो के साथ 25,000 करोड़ रुपए का करार किया था। आरकाॅम ने कर्इ बैंकों को गिरवी रखी गर्इ संपत्तियों को रिलायंस जियो इन्फोकाॅम को बेचा था। आरकाॅम ने यह कदम दिवालिया कानून के तहत होने वाली कार्रवार्इ से बचने के लिए किया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : टिकट कटने पर फूट-फूटकर रोये वरिष्ठ नेता ने छोड़ी भाजपा, बोले- सीएम योगी भी जल्द किनारे लगेंगेएसीबी ने दबोचा रिश्वतखोर तहसीलदार, आलीशान घर की तलाशी में मिले लाखों रुपए नकद, देखें वीडियोपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधAAP के सर्वे में नवजोत सिंह सिद्धू भी जनता की पसंद, जानिए कितने फीसदी वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रहे2022 में वैश्विक बेरोजगारी 207 मिलियन होने का अनुमान है: अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठनIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.